DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिग्गजों के लिए मुफीद रहा है पश्चिम उप्र

पश्चिम का मतदाता दिग्गज नेताओं का साथी रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव, कल्याण सिंह और मायावती को यहीं के वोटर ने लोकसभा भेजा। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह ने भी प्रधानमंत्री की कुर्सी का सफर पश्चिम की धरती से ही शुरू किया था। जनता दल सरकार में गृहमंत्री रहे मुफ्ती मोहम्मद सईद भी यहाँ से ही लोकसभा पहुँचे थे। पूर्वी उत्तर प्रदेश से राजनीतिक सफर शुरू करने वाले भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह पश्चिम से ही लोकसभा के लिए भाग्य आजमा रहे हैं। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान मो.अजहरूद्दीन भी मुरादाबाद से ही उतर हैं। इसी वजह शायद यह है कि पश्चिम यूपी राजनीति के लिहाज से बाहरी और दिग्गज नेताओं के लिए भाग्यशाली रहा है। क्षेत्रवाद के फेर में यहाँ का मतदाता शायद ही कभी फँसा हो? अगर अतीत में झाँकें तो पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव 1और 1में लगातार दो बार संभल लोकसभा सीट से संसद पहुँचे। प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती भी 1में बिजनौर सीट से संसद पहुँची थीं। पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह 2004 में बुलंदशहर सीट से सांसद चुने गए थे। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह मूल रूप से बागपत जिले के रहने वाले नहीं थे लेकिन उनका संसदीय सफर यहीं से शुरू हुआ था। मुजफ्फरनगर सीट पर मुस्लिम मतदाताओं की निर्णायक भूमिका के चलते जनता दल के टिकट पर यहाँ से जीते मुफ्ती मोहम्मद सईद गृहमंत्री बने थे।ड्ढr पूर्व केंद्रीय मंत्री अशोक प्रधान भी चार बार खुर्जा से सांसद रहे हैं। इस बार प्रधान बुलंदशहर से चुनावी मैदान में हैं। हिमाचल प्रदेश और पंजाब के गवर्नर रहे वीरन्द्र वर्मा भी कैराना लोकसभा सीट से ही संसद पहुँचे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दिग्गजों के लिए मुफीद रहा है पश्चिम उप्र