अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन वर्ष का बच्चा दो दिन बाद जंगल से सुरक्षित मिला

उत्तराखंड के पोढ़ी गढ़वाल जिले में तीन वर्ष के एक बालक के अपने घर से लगभग 15 कि.मी. दूर जंगल में दो दिन बाद सुरक्षित मिलने पर लोगों ने इसे भगवान का चमत्कार मानकर यही कहा कि जाको राखे सांइया मार सके न कोय। यह घटना पौढी गढ़वाल जिले के थलीसेग प्रखण्ड के अंतर्गत गांव सिरतोली की है। घटना गत शनिवार की है। जब इस गांव के निवासी कुंवर सिंह का पुत्र संतोष अचानक शनिवार को घर के आंगन से गायब हो गया। काफी खोजबीन करने के पश्चात जब मासूम बच्चा नहीं मिला तो लोगों ने बच्चे को गुलदार का शिकार बनने की आशंका जताई।


 इसके बाद ग्रामीणों और वन विभाग कर्मचारियों ने सक्रियता दिखाकर जंगल के भीतर उसकी खोजबीन की तो यह बच्चा गांव से लगभग 15 कि.मी. दूर पिठुंडीखाल के जंगल में सुरक्षित मिल गया। बच्चे क सकुशल मिलने पर परिजन इसे दैवीय चमत्कार मान रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बच्चा दो दिन बाद जंगल से सुरक्षित मिला