अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लेखक बनते फिल्मकार

लेखक बनते फिल्मकार

बॉलीवुड सिलेब्रिटीज में अचानक लिखने का शौक दिखाई देने लगा है। यों देखा जाए तो यह ट्रेंड कोई नया भी नहीं है, लेकिन फिलहाल इस वक्त यह शौक कुछ ज्यादा ही दिखाई दे रहा है। हाल ही में महेश भट्ट ने दार्शनिक यूजी कृष्णमूर्ति की प्रशंसा में किताब लिखी है-ए टेस्ट ऑफ लाइफ: दि लास्ट डेज ऑफ यूजी कृष्णमूर्ति। उनकी इस किताब ने एक बार फिर लिखित शब्दों के प्रति बॉलीवुड सिलेब्रिटीज के प्रेम को उजागर कर दिया है। अभिनेत्री सोनाली कुलकर्णी की किताब ‘सो कूल ’ जल्द ही राजहंस प्रकाशन द्वारा प्रकाशित होने जा रही है। गुलजार की बेटी मेघना ने भी अपने गीतकार पिता के साथ रिश्तों पर ‘बिकॉज ही इज’ लिखी है। उधर शकील वारसी अपनी किताब के जरिये मुगलेआजम के बारे में कुछ नयी सूचनाएं देने जा रहे हैं।

दिलचस्प बात है कि लिखने की यह प्रवृत्ति केवल भारतीय सिलेब्रिटीज तक ही सीमित नहीं है, बल्कि मॉडल और अभिनेत्री पद्मा लक्ष्मी भी ‘टैंगी, टार्ट, हॉट एंड स्वीट’ लिख कर लेखकों की कतार में शामिल हो चुकी हैं। याना गुप्ता की फिटनेस पर लिखी गयी किताब और महान फिल्मकार बिमल रॉय की बेटी रिंकी रॉय द्वारा संपादित ‘दि मैन हू स्पोक इन पिक्चर्स: बिमल रॉय’ और सुचित्रा कृष्णमूर्ति की बच्चों पर दूसरी किताब ‘दि गुड न्यूज रिपोर्टर’ कुछ ऐसी किताबें हैं, जो अनेक सिलेब्रिटीज को लेखकों की कतार में शामिल कर देंगी। अभिनेता नसीरुद्दीन शाह भी बिमल राय पर लिखी जा रही किताब में कंट्रीब्यूट करके लेखकों की जमात में शामिल होने जा रहे हैं। जाहिर है इन सिलेब्रेटीज द्वारा लिखी जा रही किताबों से प्रकाशक खुश हैं और उन्हें लगता है कि सिलेब्रिटीज द्वारा लिखी गयी किताबें जाहिरा तौर पर किताबों को माइलेज देती हैं।

'पैंग्विन बुक्स' के रवि सिंह कहते हैं, इसमें कोई संदेह नहीं है कि आज किताबों से ज्यादा नाम बिकता है। 'रूपा एंड कंपनी' के कपीश मेहरा का मानना है कि सिलेब्रिटीज लेखकों के लिए बाजार में अपार संभावनाएं हैं और यही कारण है कि अनेक बॉलीवुड सिलेब्रिटीज लेखन जैसे माध्यम का इस्तेमाल करना चाहते हैं। यह भी सच है कि सिलेब्रिटीज को इन किताबों से अचानक प्रचार मिल जाता है और कुछ हद तक किताबें बिकती भी हैं, लेकिन वास्तव में इन किताबों में कुछ खास होता नहीं। 'हार्पर कॉलिंस' के वीके कार्तिक का कहना है, हर व्यक्ति अपने जीवन के अनुभवों को अपने पाठकों के साथ बांटना चाहता है, लेकिन फिल्म सिलेब्रिटीज अपने लेखन में भी बहुत ज्यादा खुल कर नहीं लिखते, लेकिन हमें उम्मीद करनी चाहिए कि वे जल्द ही इस डर से उबरेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लेखक बनते फिल्मकार