DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिकित्सा महाविद्यालय सुपर स्पेशलिटी सेंटर के रूप में विकसित

बिहार विधान परिषद में सरकार ने कहा कि प्रदेश के बड़े चिकित्सा महाविद्यालयों को सुपरस्पेशलिटी सेंटर के रूप में विकसित करने का प्रयास किया जा रहा है।


स्वास्थ्य मंत्री नंद किशोर यादव ने कांग्रेस की श्रीमती ज्योति के एक तारांकित प्रश्न के उत्तर में कहा कि राज्य सरकार पटना चिकित्सा महाविद्यालय दरभंगा चिकित्सा महाविद्यालय और भागलपुर चिकित्सा महाविद्यालय को सुपरस्पेशलिटी सेंटर के रूप में विकसित करने के प्रयास में लगी है। उन्होंने कहा कि सुपरस्पेशलिटी विभाग में कार्डियोथेरॉसिक सर्जरी नेप्रोलॉजी लेप्रोस्कोपी सर्जरी गैसट्रोइंट्रौलॉजी इंडोकाइनोलॉजी कार्डियोलॉजी न्यूरोसर्जरी और न्यूरोलॉजी में प्राध्यापक,सह प्राध्यापक एवं सहायक प्राध्यापक के पद सृजित किए गए है।


यादव ने कहा कि इन पदों पर नियुक्ति के लिए समाचार पत्रों के माध्यम से चिकित्सा शिक्षा सेवा संवर्ग स्वास्थ्य सेवा संवर्ग और बाहरी चिकित्सकों से आवेदन आमंत्रित किए गए है। उन्होंने कहा कि इन पदों पर नियुक्ति के लिए संविदा के आधार पर एक पैनल तैयार करने की कार्रवाई की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चिकित्सा महाविद्यालय सुपर स्पेशलिटी सेंटर के रूप में विकसित