DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिश्वतखोरी को लेकर कांग्रेसियों ने किया हंगामा

रिश्वत लेकर प्रमाण पत्र तैयार करने के कथित मामले पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को एसडीएम कार्यालय के बाहर जमकर प्रदर्शन किया। कांग्रेसियों ने नारेबाजी करते हुए भ्रष्टाचारी अफसरों का पुतला भी फूंका। बाद में मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन भेजकर प्रदर्शनकारियों ने तहसीलदार व एक लेखपाल की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं। सीएम से मांग की गई है कि पूरे मामले की जांच करवाई जए तथा गड़बड़ी करने वाले अफसरों व लेखपालों को निलंबित किया जाए। उधर, तहसीलदार रुड़की ने रिश्वतखोरी के मामले को सिरे से नकारते हुए कहा कि कुछ लोग बेवजह इस तरह का झूठा प्रचार कर रहे हैं।


कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को एसडीएम कार्यालय पर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। कांग्रेसियों ने कुछ लेखपालों पर प्रमाण पत्र बनाने के लिए रिश्वतखोरी को बढ़ावा देने का इल्जाम लगाया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि बिना रिश्वत के यहां पर प्रमाण पत्र तैयार नहीं हो पा रहे हैं। रिश्वत न देने वाले लोगों के सर्टिफिकेट बनाने के मामलों को अनावश्यक रूप से लटकाकर तंग किया जाता है। गुस्साये कांग्रेसियों ने भ्रष्ट अधिकारियों का पुतला भी जलाया। बाद एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक को एक ज्ञापन भेजकर मांग की है कि रुड़की के तहसीलदार को यहां से हटाकर मामले की जांच करवाई जाएं। रिश्वतखोरी में संलिप्त लेखपालों को तुरंत प्रभाव से निलंबित किया जाए। उधर, रुड़की की तहसीलदार शाहिद हुसैन का कहना है कि प्रमाण पत्र बनाने के लिए कोई रिश्वत नहीं ली जा रही है। कुछ लोग इस तरह की झूठी बातों को उछालकर अपने स्वार्थ सिद्ध करने का प्रयास कर रहे हैं। 


एसडीएम कार्यालय पर प्रदशर्न करने वाले प्रदर्शनकारियों में कांग्रेस के जिला महामंत्री नरेश सिंह सैनी, जिला उपाध्यक्ष युवा कांग्रेस कुलदीप पंत, युकां जिला महामंत्री कुलदीप सैनी, युकां नगर अध्यक्ष कर्मजीत खोखर, अशोक आर्य, सत्य प्रकाश कश्यप, राम लाल, मोहन रावत, रामपाल कश्यप, हिमांशु, आरिफ, ओमपाल सैनी, बंटी, अनुज, सचिन समेत कई कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रिश्वतखोरी को लेकर कांग्रेसियों ने किया हंगामा