अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हंगामे के बाद सदन स्थगित

उत्तराखण्ड में पेयजल की समस्या सूखे की स्थिति सहित अन्य मामलों पर कार्यस्थगन के माध्यम से चर्चा कराये जाने की विपक्षी सदस्यों की मांग को अध्यक्ष द्वारा ठुकराने के बाद मंगलवार को  उत्तराखण्ड विधानसभा में सदस्यों ने जमकर हंगामा किया। जिसके चलते सदन की कार्यवाही दो बार स्थगित करनी पड़ी।
    
उत्तराखंड विधानसभा में समूचे विपक्ष के जोरदार हंगामे के चलते सदन की कार्यवाही अध्यक्ष हरबंस कपूर ने पहले 11 बजकर 45 मिनट तक के लिये और उसके बाद 12 बजे तक के लिये स्थगित कर दी।
    
सदन की कार्यवाही मंगलवार को जैसे ही शुरू हुई कांग्रेस के हरक सिंह रावत और बसपा के शहजाद के नेतृत्व में विपक्षी विधायकों ने सूखे और पेयजल की समस्या सहित अन्य मुद्दों पर नियम 310 के तहत कार्य रोक कर चर्चा कराये जाने की मांग की। मांग को नकारने पर सदस्य शोर शराबा करने लगे। विधानसभा अध्यक्ष हरबंस कपूर ने सदस्यों को शांत करते हुये कहा कि इन मुददों पर बाद में विचार किया जायेगा लेकिन सदस्यों ने लगातार शोर शराबा जारी रखा। सदस्यों को शांत नहीं होते देख विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही 11 बजकर 45 मिनट तक के लिये स्थगित कर दी और उसके बाद समय को 12 बजे तक बढ़ा दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हंगामे के बाद सदन स्थगित