अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जब डाइनिंग रूम में मिलें भरपूर खुशियां

जब डाइनिंग रूम में मिलें भरपूर खुशियां

घर में डाइनिंग रूम एक ऐसी जगह होती है, जहां घर के सभी सदस्य एक साथ एक ही समय पर जमा होते हैं। ऐसे में खाते-पीते ही वे तमाम उन बातों पर चर्चा भी कर डालते हैं, जो बातें पूरे परिवार के भले के लिए होती हैं। ऐसे में डाइनिंग रूम का भी न सिर्फ आकर्षक होना जरूरी है, बल्कि उसे फेंग्शुई के नियमों पर आधारित भी होना चाहिए, ताकि घर के सदस्यों के बीच आपसी प्रेम बढ़े और पूरे परिवार के भाग्योदय में मदद मिले। इस संबंध में फेंग्शुई और वास्तु विशेषज्ञ रमन दत्ता कुछ खास बातों पर ध्यान देने की सलाह देते हैं :


डाइनिंग टेबल के साथ वाली दीवार पर एक बडम सा आईना लगा दें। फेंग्शुई के नियमों के अनुसार ऐसा करने से सफलता और समृद्धि में बढोत्तरी होती है, क्योंकि यह दोहरे प्रभाव का द्योतक है।

यदि आपका डाइनिंग रूम अलग बना हो तो इस बात का ध्यान रखें कि उसके दरवाजे सदा खुले रहें। इससे चाई ऊर्जा के आने में किसी तरह की बाधा नहीं आती। यह सकारात्मक ऊर्जा परिवार की समृद्धि के लिए जिम्मेदार है।

डाइनिंग रूम में किसी एंटिक वस्तु का इस्तेमाल सजावट के लिए न करें।

डाइनिंग रूम का निर्माण घर के किसी निचले हिस्से में नहीं कराना चाहिए। फेंग्शुई के अनुसार इसे अच्छा नहीं माना जाता। डाइनिंग रूम हमेशा ही घर के अन्य हिस्सों के मुकाबले ऊंची जगह पर होना चाहिए।

घर के किसी वैसे व्यक्ित, जिसकी मृत्यु हो चुकी हो, उसकी तस्वीर डाइनिंग रूम में नहीं लगानी चाहिए। ऐसी तस्वीरों के लिए लिविंग रूम को अच्छा माना जाता है।

मल्टीस्टोरी अपार्टमेंट में इस बात का ध्यान रखें कि आपका डाइनिंग रूम ऊपरी मंजिल के किसी टॉयलेट के नीचे न हो।

इसी तरह किसी टॉयलेट के साथ बने कमरे का इस्तेमाल डाइनिंग रूम की तरह नहीं करना चाहिए। यदि ऐसा करना आपकी मजबूरी हो तो भी टॉयलेट की तरफ वाली दीवार से लगाकर डाइनिंग टेबल को कतई न रखें।

डाइनिंग रूम की छत में किसी बीम का निर्माण ठीक नही है। इससे स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं उत्पन्न होती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जब डाइनिंग रूम में मिलें भरपूर खुशियां