अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंकवाद पर केन्द्रित होगी मनमोहन-गिलानी वार्ता

आतंकवाद पर केन्द्रित होगी मनमोहन-गिलानी वार्ता

प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह तथा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी के बीच गुरुवार को मिस्र के शर्म अल शेख में होने वाली बैठक में आतंकवाद ही मुख्य मुद्दा होगा, जहां डॉ. सिंह का पूरा जोर पाकिस्तानी जमीन से भारत के खिलाफ आतंकवाद को मिल रहे समर्थन पर होगा।

वहीं गिलानी द्वारा द्विपक्षीय वार्ता के दौरान भारत का पक्ष कमजोर करने के लिए कश्मीर मुद्दे को उठाने की पूरी संभावना है। इस बीच गुटनिरपेक्ष देशों के शिखर सम्मेलन के भाग लेने के लिए मिस्र रवाना होने से पहले गिलानी ने नवाज शरीफ समेत विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ गहन विचार-विमर्श किया। उनकी इस बैठक के पीछे मुंबई हमले के संदर्भ में भारत द्वारा की जा रही कार्रवाई की मांग को लेकर सभी दलों के बीच आम सहमति बनाना था।

बैठक के दौरान पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे को उछालकर अपने यहां फल-फूल रहे आतंकवाद से अंतरराष्ट्रीय बिरादरी का ध्यान हटाने की कोशिश कर सकता है। गौरतलब है कि सम्मेलन के दौरान डॉ. सिंह बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, नेपाली प्रधानमंत्री माधव कुमार नेपाल तथा श्रीलंका के राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे के साथ भी बैठक कर संबंधित मुद्दों पर विचार-विमर्श करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आतंकवाद पर केन्द्रित होगी मनमोहन-गिलानी वार्ता