अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक कॉलेज के प्रिंसिपल को गुड़गांव कोर्ट ने भेजा समन

भ्रष्टाचार और गलत साक्ष्य पेश किए जने पर गुड़गांव अदालत ने दिल्ली विश्वविद्यालय के एक कॉलेज के प्रिंसिपल के खिलाफ समन जरी कर दिया है। एसोशिएट प्रोफेसर की शिकायत पर ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट ने शिकायतकर्ता को जान से मारने की धमकी और गलत साक्ष्यों को पेश किए जाने पर यह आदेश दिया है। इससे विश्वविद्यालय और कालेज प्रबंधन में भी हड़कंप मचा है।


साउथ कैंपस के मोतीलाल नेहरु (इवनिंग) कॉलेज में बतौर एसोसिएशट प्रोफेसर(इकोनॉमिक्स) पी के शर्मा ने प्रिसिपल एस सी शर्मा पर भर्ती और वित्तीय अनियमिताओं को आरोप लगाते हुए एंटी करप्शन ब्रांच, दिल्ली में जनवरी, 2003 में शिकायत दर्ज कराई थी। शाखा ने वर्ष 04 में इस मामले में विश्वविद्यालय के कुलपति सहित उच्चधिकारियों के पास आगे की कार्रवाई के लिए भेजी गई थी। एसोसिएशन प्रोफेसर का आरोप है कि एंटी करप्शन ब्रांच की ओर से लगातार पूछताछ से परेशान, प्रिसिपल ने 27 मार्च, 2008 को फोन पर धमकी देते हुए मामले को वापस लेने की धमकी दी। 28 मार्च, 08 को सेक्टर-14 में भी एसोशिएट प्रोफेसर ने यह मामला दर्ज कराया, लेकिन कोई खास कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद उन्होंने अदालत की शरण ली। गुड़गांव अदालत चार जुलाई, 2009 को सभी साक्ष्यों की जंच के आधार पर प्रिंसिपल के खिलाफ धमकी और गलत साक्ष्य पेश किए जाने पर समन जारी किया है। इससे जुड़े अन्य मामले में भी एसोशिएट प्रोफेसर ने हाइकोर्ट में भी शिकायत दी है, जिसपर सुनवाई होना बाकी है। साथ ही इसी मामले से जुड़ी शिकायतों को लेकर सूचना के अधिकार के तहत भी जानकारियां मंगाई जा चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक कॉलेज के प्रिंसिपल को गुड़गांव कोर्ट ने भेजा समन