अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूलों से टैक्स नहीं वसूला जा सका

पब्लिक स्कूलों से टैक्स वसूलने में नगर निगम प्रशासन के पसीने छूट रहे हैं। अभी तक किसी भी स्कूल से टैक्स नहीं लिया जा सका है। इतना ही नहीं निगम भूमि अनुभाग को पैमाइश तक नहीं करने नहीं दी जा रही है। ऐसे में टैक्स वसूलने को निगम ने एमडीडीए का सहारा लिया हैं। पैमाइश में दिक्कत करने वाले स्कूलों के नक्शे एमडीडीए से मंगा लिए गए हैं। इसके लिए नगर निगम ने एमडीडीए को स्कूलों की सूची थमा दी है।


स्कूलों का नक्शा मिलने से नगर निगम भूमि अनुभाग को पैमाइश करने में सहूलियत मिलेगी। नक्शे में कुल भूमि के साथ कवर्ड क्षेत्र का पूरा ब्यौरा रहता है। इस ब्यौरे से नगर निगम स्कूलों के भेजे जाने वाले नोटिस में भवन कर तय कर पाएगा। नगर निगम को सबसे अधिक दिक्कत सेंट जोजफ एकेडमी से पेश आ रही है। निगम अधिकारियों की माने तो स्कूल संचालक निगम कर्मचारियों को परिसर में घुसने ही नहीं दे रहे हैं। बार बार प्रयास किए जाने के बावजूद स्कूल प्रशासन पैमाइश में सहयोग नहीं कर रहा है।


इसी दिक्कत के कारण निगम ने एमडीडीए से सेंट जोजफ एकेडमी का नक्शा मांगा है। निगम की माने तो स्कूल का परिसर 86 बीघा भूमि पर फैला हुआ है। अभी तक स्कूल सिर्फ दो बिल्डिंगों का ही टैक्स निगम को देता आया है। जबकि मौके पर पांच और नये निर्माण हो चुके हैं। ऐसे में नक्शे को आधार बना पैमाइश की जाएगी। इसी के बाद स्कूल को भवन कर के बाबत नोटिस जारी किया जएगा। भवन कर के बाबत प्रतिष्ठित दून स्कूल को भी नोटिस भेजा जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्कूलों से टैक्स नहीं वसूला जा सका