DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंजीनियर हत्याकांड में राज्य सरकार से जवाब तलब

औरैय्या के बहुचर्चित इंजीनियर मनोज कुमार गुप्ता की हत्या के आरोपित तत्कालीन थानाध्यक्ष दिबियापुर होशियार सिंह की गिरफ्तारी की माँग को लेकर दायर याचिका पर हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने राज्य सरकार से 15 दिन में जवाब-तलब किया है।

अदालत ने पूछा है कि फरार अभियुक्त होशियार सिंह की गिरफ्तारी के क्या प्रयास किए गए? न्यायमूर्ति के.के मिश्रा तथा न्यायमूर्ति राजमणि चौहान की खंडपीठ ने यह आदेश मृतक मनोज गुप्ता की पत्नी शशि गुप्ता की ओर से दायर याचिका पर दिए। याचिका पर वकील सलिल कुमार श्रीवास्तव की दलील थी कि जिस समय अभियुक्त थाना दिबियापुर का थानाध्यक्ष था, उसकी मदद से अन्य अभियुक्तों ने याची के पति मनोज की बेरहमी से पीट-पीट कर हत्या कर दी। मामले के सह अभियुक्त शेखर तिवारी बसपा के विधायक हैं और योगेन्द्र सिंह दोहरे उर्फ भाटिया बसपा जिलाध्यक्ष हैं। इनकी पहुँच व प्रभाव के चलते राज्य सरकार फरार अभियुक्त होशियार सिंह की गिरफ्तारी नहीं कर रही है। वकील की दलील थी कि फरारी के दौरान होशियार सिंह व शेखर तिवारी की पत्नी विभा तिवारी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल की थी जो खारिज हो गई। इसके बावजूद वह अदालत में उपस्थित नहीं हुआ। वकील का आरोप था कि होशियार सिंह खुलेआम घूम-घूमकर मामले के गवाहों को धमका रहा है और साक्ष्य नष्ट कर रहा है। अभियुक्त के पुलिस कर्मी होने के नाते स्थानीय पुलिस व सरकार उसे संरक्षण प्रदान कर रही है। सुनवाई के समय राज्य सरकार की ओर से शासकीय अधिवक्ता महेन्द्र प्रताप यादव मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंजीनियर हत्याकांड में राज्य सरकार से जवाब तलब