DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वर्णकार समाज के चुनाव में मारपीट, मौत का कारण

स्वर्णकार समाज वाराणसी के चुनाव में हुई मारपीट बनारसी सेठ (50) की मौत का कारण बन गयी। मारपीट करने वालों के हाथ लगे पुत्र को बचाने के दौरान किसी के घूंसे के प्रहार से सीने में उठे दर्द और हार्टअटैक ने बनारसी को परिजनों से छीन लिया। माता-पिता की बूढ़ी आंखों के सामने पुत्र की अर्थी उठती देख मुहल्ले के लोगों की आंखें भर आयीं। कई लोग तो फफक कर रो पड़े। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। बनारसी के निधन के शोक में सर्राफा मंडी समेत विभिन्न इलाकों में खुली सोने-चांदी की दुकानें दोपहर बाद बंद हो गयीं।


प्रत्यक्षदर्शियों की मानें, तो दारानगर स्थित स्वर्णकार समाज धर्मशाला में रविवार को चुनाव में एक गुट द्वारा मारपीट के दौरान बनारसी सेठ के छोटे बेटे अर्चित (17) को कुछ लोग पीटने लगे। उसकी चीख-पुकार सुन बनारसी चिल्लाते हुए उसे बचाने दौड़े, तो किसी का एक घूंसा उनके सीने पर लगा और वह दर्द से कराहते हुए जमीन पर गिरकर छटपटाने लगे। लोगों ने उन्हें नटराज सिनेमा के समीप स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां सोमवार को दोपहर में उनकी मौत हो गयी। निधन का समाचार मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। शुभचिंतकों की भारी भीड़ उनके गोपालगंज बाड़ा (औसानगंज) स्थित आवास पर जुट गयी। पिता प्यारेलाल, माता चमेली देवी, पत्नी सरला देवी का रो-रोकर बुरा हाल था। महिलाएं सिसकते हुए सभी को संभाल रही थीं। चार भाइयों में बड़े बनारसी के तीनों पुत्र अनुपम (25), चेतन (18) व अर्चित अभी पढ़ रहे हैं। अनुपम 70 फीसदी विकलांग होने के कारण घर पर ही रहता है। पिता का शव देख पुत्र बिलखने लगे। उनके करुण-क्रंदन से माहौल गमगीन हो गया। चेतन व अर्चित समय मिलने पर रेशम कटरा स्थित सोने-चांदी एवं दारानगर त्रिमुहानी स्थित सैलून की दुकान पर आते-जाते रहते थे। निधन के शोक में सुड़िया, रेशमकटरा, गोविंदपुरा, जतपुरा, औसानगंज, दारानगर समेत अन्य इलाकों की सर्राफा की दुकानें दोपहर बाद बंद हो गयीं।

परिजनों के मुताबिक, छह माह पूर्व भी उन्हें दिल का दौरा पड़ा था। शवयात्रा अपराह्न् बाद निकली और मणिकर्णिका घाट पर अंतिम संस्कार हुआ। मुखाग्नि छोटे पुत्र अर्चित ने दिया। गोविंदपुरा रेशम कटरा व्यापार मंडल के अध्यक्ष सुनील सोनी ने घटना की निंदा करते हुए चुनाव अधिकारी से इसकी जांच कराने की मांग की है। चुनाव अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद सर्राफ ने घटना की निंदा की। कहा, मंगलवार की बैठक में कड़े निर्णय लिये जायेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वर्णकार समाज के चुनाव में मारपीट, मौत का कारण