DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वर्णकार समाज वाराणसी के चुनाव में रविवार को दोपहर बाद धांधली बरतने का आरोप लगाते हुए एक पैनल के समर्थकों ने सुनियोजित ढंग से हंगामा किया। मतपत्र फाड़कर हवा में उछाले गए और कुर्सियां-मेज भी पलट दी गईं। चुनाव संचालन समिति के सदस्यों के खिलाफ नारेबाजी कर अव्यवस्था पैदा कर दी। पुलिस ने लाठीचार्ज कर अव्यवस्था फैलाने वालों को खदेड़ा। इस दौरान चुनाव स्थल पर अफरा-ाफरी का माहौल रहा। चुनाव अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद सर्राफ ने चुनाव रद घोषित कर दिया है।  दारानगर स्थित स्वर्णकार समाज धर्मशाला में प्रात: 8 बजे मतदान प्रक्रिया शुरू हुई। अध्यक्ष, महामंत्री समेत पांच पदों के लिए

कुल 15 बूथ बनाए गए थे। मतदान में भाग लेने वाले 6182 सदस्यों की पहचान के लिए 8 बूथ भी बनाए गए थे। चुनाव में चार पैनलों के बीच टक्कर थी। शांति व्यवस्था के लिए पुलिसकर्मी तैनात थे। दोपहर करीब 12.30 बजे तक 40 प्रतिशत मत पड़ चुके  थे। इसी बीच एक पैनल के समर्थक मतदान स्थल पर पहुंचे और मतदान करने के बहाने मतपत्रों को कब्जे में लेकर फाड़ते हुए हवा में लहराना शुरू कर दिया। लोगों ने इसका विरोध किया तो मारपीट पर उतारू हो गए और कुर्सी-मेज पलटकर अव्यवस्था फैलाने लगे। पुलिस ने लाठीचार्ज कर उनको धर्मशाला परिसर से बाहर खदेड़कर मुख्य द्वार बंद करवा दिया। वहां भी नारेबाजी की गई तो पुलिस ने पुन: लाठियां फटकारीं। अन्य सदस्यों का आरोप था कि एक पैनल के लोगों ने अपनी हार सुनिश्चित जनकर हंगामा किया। यह भी आरोप लगे कि चुनाव संचालन समिति की लापरवाही के कारण ग्रामीण इलाकों से आए मतदाताओं का काफी र्दुव्यवस्था का सामना करना पड़ा। कईयों के नाम मतदाता सूची में नहीं थे। दारानगर के राकेश सेठ ने आरोप लगाया, नियत तिथि 30 अप्रैल के अंदर सदस्यता शुल्क जमा करने पर भी उनका एवं उनके पुत्र का नाम मतदाता सूची में नहीं था। औासानगंज के दिनेश वर्मा का कहना था, परिवार के सदस्यों का क्रमांक गड़बड़ होने से नाम ढूढ़ने में काफी परेशानी हुई। उधर, घटना से हतप्रभ बनारसी सेठ नामक व्यक्ित को दिल का दौरा पड़ने पर नटराज सिनेमा के पास स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

चुनाव अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद सर्राफ ने बताया, एक पैनल के लोगों ने न सिर्फ उत्पात मचाया बल्कि मतपत्रों को फाड़कर हवा में लहराया। इस कारण चुनाव रद्द करना पड़ा। अब मंगलवार-बुधवार को समिति की बैठक में नयी तिथि की घोषणा होने की उम्मीद है। दूसरी ओर, अध्यक्ष पद के प्रत्याशी गोपाल सेठ ने चुनाव संचालन समिति पर धांधली बरतने और अव्यवस्था फैलाने का आरोप लगाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वर्णकार समाज के चुनाव में सुनियोजित बवाल!