DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भदऊ चुंगी पर रविवार की सुबह बच्चे की पिटाई को लेकर विवाद में भाजपा पार्षद मनोज सोनकर और सिपाही प्रमोद के बीच मारपीट हो गई। घटना की शुरुआत सिपाही के घर में क्रिकेट की बाल जने से हुई थी, जिस पर उसने एक बच्चे को पकड़कर पीट दिया था। क्षेत्रीय लोगों ने मनोज को बताया तो नौबत सिपाही के साथ मारपीट तक पहुंच गई। सिपाही ने तत्काल थाने पहुंचकर एसओ को घटना की जनकारी दी। बाद में पार्षद भी मेडिकल मुआयना कराकर समर्थकों के साथ सिपाही के खिलाफ तहरीर लेकर पहुंचे तो उनको पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। बाद में थाने पहुंचे भाजपाइयों ने हंगामा किया, लेकिन पुलिस ने उनकी नहीं सुनी।

जीआरपी से कुछ दिन पूर्व सिविल पुलिस में आया प्रमोद इस समय आदमपुर पुलिस चौकी पर तैनात है। रविवार सुबह 10 बजे उसके रेलवे क्वार्टर में क्रिकेट की बॉल गिरी। आरोप है कि क्रिकेट खेल रहे बच्चे बॉल मांगने के लिए पहुंचे तो प्रमोद ने विशाल की पिटाई कर दी। इस बीच स्थानीय लोगों की सूचना पर पार्षद मनोज सोनकर मौके पर पहुंचे। दोनों के बीच कहासुनी मारपीट में तब्दील हो गई। भीड़ के सामने पिटा सिपाही भागकर थाने पहुंचा और एसओ को घटना की जनकारी दी। एसओ ने सिपाही से तहरीर ले ली।  तभी पार्षद अपने समर्थकों के साथ पहुंचे। पार्षद का कहना था कि छोटे बच्चे को सिपाही निर्ममता से पीट रहा था, जिसका उन्होंने विरोध किया। विरोध करने पर सिपाही ने उनके साथ मारपीट की। पिटाई सिपाही की नहीं हुई है बल्कि उसने ही ज्यादती की है, इसलिए सिपाही के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई होनी चाहिए। पुलिस ने पार्षद की एक न सुनी बल्कि सिपाही की तहरीर पर मनोज, दिलीप और प्रमोद को गिरफ्तार कर हवालात में डाल दिया। पार्षद की गिरफ्तारी की सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में भाजपाई थाने पहुंचे और नारेबाजी करने लगे। शाम तक थाने पर हंगामा होता रहा लेकिन पार्षद को पुलिस ने नहीं छोड़ा। 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिपाही-पार्षद के बीच मारपीट