अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिगरा व सारनाथ में सात वाहन चोर गिरफ्तार

सहसा विश्वास नहीं होगा, बाइक चोरी की ताबड़तोड़ घटनाओं को अंजम देने वाले गिरोह का सरगना सीबीसीआईडी के इंस्पेक्टर का पुत्र है। वह भी सेंट जंस जसे प्रतिष्ठित स्कूल का पढ़ा लिखा। गिरोह के अन्य सदस्य भी शहर के प्रतिष्ठित स्कूलों में पढ़ते हैं। सिगरा जसे पॉश इलाके में रहते हैं और सभ्रांत परिवार के हैं।

जी हां, यह सब सच है। क्योंकि इसे खुद गिरोह के युवा सदस्यों ने पुलिस को तब बताया जब उनमें से चार युवक शुक्रवार को सिगरा पुलिस के हत्थे चढ़ गए। उनके पास से चोरी की 8 बाइकें भी बरामद हुईं। वहीं सारनाथ पुलिस ने भी चोरी के छह वाहनों के साथ तीन लोगों को पकड़ा।

एसपी सिटी विजय भूषण ने गिरफ्तार चोरों को मीडिया के सामने पेश किया। बताया लल्लापुरा चौकी इंचार्ज भारत भूषण ने सूचना पर नगर निगम के पास घेराबंदी की। पुलिस को देख एक बाइक पर सवार दो युवक भाग गए जबकि एक पकड़ा गया। उसकी निशानदेही पर अन्नपूर्णा नगर कालोनी के गेट से तीन युवकों को गिरफ्तार कर सात बाइक बरामद की गई। गिरफ्तार युवकों में अजरुन शर्मा सेंट जंस का छात्र है जबकि समृद्ध उर्फ शेखू सनबीम रोहनिया का। विनय शर्मा इंटर कर इंजीनियरिंग की कोचिंग कर रहा है और गौरव गुप्ता अभी पढ़ रहा है। कड़ाई से पूछताछ में उन्होंने कबूला कि मौके से भागने वाल उत्कर्ष उर्फ लव सिंह और सुधांशु तिवारी उर्फ जुगनू वाहन बेचते थे। इंस्पेक्टर का पुत्र उत्कर्ष सेंट जंस से इंटर करने के बाद कोचिंग करने के अलावा गैंग का संचालन करने लगा। गिरफ्तार लोगों में दो तो नाबालिग हैं।

उधर सारनाथ एसओ प्रेमवीर सिंह राणा ने गुरुवार की रात पंचक्रोशी चौराहे पर चेकिंग के दौरान अमृतमाल, नीरज उर्फ सोनू और अमित उर्फ राजेश को चोरी की फ्रीडम बाइक के साथ गिरफ्तार किया। पूछताछ में मिली जनकारी पर कबाड़ी की दुकान पर दबिश देकर तीन बाइक, दो स्कूटर के अलावा कई वाहनों के पुज्रे बरामद किए। सोनू और अमित ने छिनैती की घटना में भी संलिप्तता कबूल की। दोनों के पास से दो हजर रुपया भी बरामद हुआ। मूल रूप से जौनपुर निवासी अमृतलाल कबाड़ी है और वाहन चुराने के कुछ घंटों बाद पुज्रे अलग कर बेच देता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिगरा व सारनाथ में सात वाहन चोर गिरफ्तार