अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खुशियां खुद ढूंढें

अगर आप जीवन में खुशियों को शामिल करना चाहते हैं तो यह बहुत कठिन नहीं है। आपके शरीर द्वारा रासायनिक द्रव्यों की उत्पत्ति आपको खुश करने में मददगार होती है। जब आप खुश होते हैं तो इंडोरफिंस नाम का हॉर्मोन आपके रक्तप्रवाह में मौजूद होता है। यह हॉर्मोन 12 घंटे तक सक्रिय रह सकता है। शरीर में उत्‍पन्न सेरोटोनिन नाम का एक दूसरा रासायनिक द्रव्य होता है जो आपके खुश रहने का जिम्मेदार होता है। अच्छी खबर यह है कि आप अपने खून और दिमाग में इनकी मात्रा बढ़ा सकते हैं, कुछ इन तरीकों से -

हास्य फिल्में देखें, दोस्तों से मिलें : हास्य फिल्में देखें। हंसना सर्वोत्तम दवा है। हंसी क्लब जो आज हर शहरों में कुकुरमुत्तों की तरह उग आए हैं, उनमें लोगों की मौजूदगी इसका प्रमाण है। दोस्तों से बातचीत करें। थोड़ी बहुत छेड़छाड़ भी हो तो इससे माहौल विनोदपूर्ण बना रहता है।

दौड़ लगायें : यह एक तीर से दो शिकार करने जसा तरीका है। स्वच्छ हवा और व्यायाम आपके मूड को ठीक करते हैं।

चॉकलेट खाएं : हम सभी चॉकलेट में पाई जने वाली भरपूर ऊर्जा के बारे में अच्छी तरह से जानते हैं। चॉकलेट का एक छोटा टुकड़ा भी काफी ऊर्जा प्रदान करता है। अच्छे अनुभव होने को लेकर यह पूरी तरह से प्रमाणित है कि चॉकलेट सरोटोनिन उत्सजिर्त करता है।

शॉपिंग के लिए जाएं : रिटेल थैरेपी को मूड ठीक करने का एक बेहतर साधन माना जाता है। शॉपिंग के लिए किसी के साथ जाएं। अपने मनपसंद मॉल या बाजार का चुनाव करें। पसंदीदा आयटम के रंगों और उसके बनावट का आनंद लें।

तकिये से लड़ाई करें : दोस्तों के साथ तकिये की जोरदार लड़ाई से बढ़कर और कुछ नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खुशियां खुद ढूंढें