अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिड़ियाघर में चोरी, सुरक्षा पर फिर उठा सवाल

चिड़ियाघर में एक बार फिर से सुरक्षा व्यवस्था को सेंध लगा बदमाश चोरी कर फरार हो गए। इस बार चिड़ियाघर स्थित पशु चिकित्सालय उनके निशाने पर रहा।

अस्पताल में रखे माइक्रो चिप रीडर पर उन्होंने हाथ साफ कर दिया। खास बात यह है कि अस्पताल में दो नवजत शेर के बच्चे समेत कई बीमार जनवर भी बंद थे। चोरी की घटना ने चिड़ियाघर में रहने वाले वन्य प्राणियों की सुरक्षा को लेकर फिर से सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं। चिड़ियाघर में गत मंगलवार को हुई चोरी की घटना ने सुरक्षा की पोल खोलकर रख दी है। यहां रात के समय अस्पताल में रखे दो माइक्रो चिप रीडर और अन्य सामान पर चोरों ने हाथ साफ कर दिया। अस्पताल में पिछले दिनों जन्मे शेर के दो बच्चे बंद हैं। उन्हें शेरनी के दूध नहीं पिलाने की वजह से अस्पताल में रखा गया है। दोनों बच्चों को बकरी का दूध पिलाया जा रहा है। जिस तरह से चोरों ने अस्पताल को निशाना बनाया है, उसे देखते हुए शेर के नवजत बच्चों के लिए भी खतरा बन सकता था। पता चला है कि अस्पताल में बीमारी की वजह से सफे द टाइगर और हिरण भी बंद हैं।


इसके अलावा चोरों ने कई अन्य बीटों का ताला तोड़कर वहां से लोहे के पाइप, नल समेत सेनेटरी के सामान पर हाथ साफ कर दिया। इन बीटों में तोते समेत विशेष प्रजति के कई पक्षी भी रहते हैं। चोरी की बढ़ती वारदातों को रोकने में अभी तक चिड़ियाघर प्रशासन नाकाम ही साबित हुआ है।

गौरतलब है कि इससे पूर्वचिड़ियाघर से उल्लू व सांप चोरी होने के मामले भी चर्चा में रह चुके हैं। एक बार कैश रूम का ताला तोड़कर भी कैश निकालने का प्रयास किया गया था। निजमुद्दीन पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर जंच शुरू क र दी है। पुलिस को वारदात के पीछे किसी जनकार का हाथ होने की आशंका है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चिड़ियाघर में चोरी, सुरक्षा पर फिर उठा सवाल