अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नौकरी के नाम पर दुबई में भीख मंगवाई

आबूधाबी दुबई में बड़ी कम्पनी में नौकरी का झंसा देकर एक व्यक्ित ने चार युवकों से 75-75 हजार रु ठग लिए। शिकायत की गई है कि आबूधाबी में कम्पनी में नौकरी देने के बजाय उन्हें एक शेख के हवाले कर दिया। शेख ने वेतन देने के बजाय युवकों से भीख मंगवाई। इस मामले में पीड़ित युवकों के परिजनों ने कोतवाली में तहरीर दी है। पुलिस ने मामले की पड़ताल शुरू कर दी है।

मौहल्ला खताड़ी निवासी अंसार हुसैन पुत्र अबरार हुसैन, शाहिद अली पुत्र वाहिद अली, अल्तकश पुत्र जावेदखान, बजीर को उन्हीं के पड़ोसी सावेद पुत्र कल्लूखां ने आबूधाबी दुबई की किसी कम्पनी में नौकरी लगाने के नाम पर 75-75 हजार रु देने को कहा। सावेद ने कहा कि 50 हजार रु बीजा खर्च तथा 75 हजार रु रास्ते का खर्चा आयेगा। उसने बताया कि वहां पर उन्हें एक हजार द्रम प्रतिमाह वेतन दिया जएगा। साथ ही खाना खर्चा कम्पनी द्वारा वहन किया जायेगा। सावेद ने बताया कि मौहल्ला खताड़ी निवासी नईम जो आबूधाबी में किसी बडी कम्पनी में काम कर रहा है वह बीजा की व्यवस्था करेगा। युवकों द्वारा सहमत होने पर उन्होंने नईम की पत्नी Þाीमती अफशाना को रु दे दिये। नईम द्वारा उन्हें आबूधाबी दुबई का बीजा भेज दिया गया।

चारों युवक 29मई 2008 को आबूधाबी पहुंचे वहां पहुंचकर किसी कम्पनी में भी काम नहीं दिया गया। जब इन चारों युवकों द्वारा कम्पनी वालों से कार्य देने के लिए कहा तो कम्पनी वालों ने कहा कि नईम ने तो उक्त बीजे को ब्लैक कर दिया है और किसी दूसरे को वह बीजा दे दिया है इसलिए तुम्हें यहां पर काम नहीं मिलेगा। जब इन युवकों द्वारा नईम से यह बात बतायी तो उसने उन्हें एक शेख के यहां काम पर लगा दिया। शेख द्वारा उनसे दिन रात काम लिया जाता था तथा भरपेट भोजन भी नहीं दिया जाता था। महीना पूरा होने पर जब उन्होने शेख से तनख्वाह की मांग की तो शेख ने बताया कि उसने तुम्हारा बीजा नईम से ब्लैक में खरीदा है जब तक मेरे पैसे पूरे नहीं हो जाते तब तक तुम यहीं काम करोगे। शिकायत की गई है कि शेख ने मस्जिद में भीख मांगने पर भी मजबूर किया तथा पासपोर्ट भी अपने पास रख लिया। युवक पांच माह तक शेख के यहां पर काम करते रहे तथा खाली हाथ इनको वापस भेज दिया गया

पीड़ित युवकों के परिजनों शाहिद अली की मां कमरजहां पत्नी वाजिद अली तथा अन्य ने कोतवाली में तहरीर दी है कि उक्त कबूतरबाज नईम आजकल रामनगर अपने घर आया हुआ है। उन्होने नईम से पैसा वापस दिलाने तथा उसके खिलाफ फरेब करने का आरोप लगाते हुए उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। पुलिस क्षेत्राधिकारी हरीश चन्द्र सती ने बताया कि उनके द्वारा इस संबन्ध में जांच की जा रही है तथा नईम को थाने बुलाकर उससे पूछताछ की जा रही है।

आरोप को निराधार बताया
कबूतरबाजी का आरोपी नईम पुत्र मुल्ला शफीक ने बताया कि इन तीन युवकों द्वारा उन पर लगाये गये आरोप बेबुनियाद हैं। उसने कहा कि उसने इनसे कोई पैसा नहीं लिया तथा आबूधाबी में कार्य करने वाले अली ने इनका बीजा बनवाया था। नईम ने बताया कि पड़ोसी होने के नाते उसने उन्हें नेक राय दी, लेकिन इनका व्यवहार वहां सही ना होने के कारण इन्हें नौकरी नहीं मिली।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नौकरी के नाम पर दुबई में भीख मंगवाई