अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वेतन विसंगतियों को लेकर आरपार की तैयारी

वेतन विसंगतियों को दूर करने समेत विभिन्न मांगों को लेकर डिफैन्स रिसर्च डवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) के तकनीकि स्टाफ ने आर-पार की लड़ाई के लिए कमर कस ली है। मंगलवार को आईआरडीई व डील के सौ से भी ज्यादा कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार किया। बुधवार को कर्मचारी भूख हड़ताल शुरू कर देंगे।

डीआरडीओ के अंतर्गत संचालित विभिन्न प्रयोगशालाओं व अन्य उपक्रमों में कार्य करने वाले तकनीकि स्टाफ पिछले एक हफ्ते से वेतन विसंगतियों का विरोध कर रहा है। केन्द्र सरकार की तरफ से कोई सकारात्मक पहल न होने से कर्मचारियों के तेवर कड़े कर लिए हैं। मंगलवार को कर्मचारियों ने आईआरडीई के बाहर एक दिवसीय धरना देकर अपना विरोध जताया।


डिफेन्स इंस्ट्रमेंटस इम्प्लाईज यूनियन के महामंत्री ए मोहन ने कहा कि सरकार तकनीकि कर्मचारियों के साथ सौतेला रवैया अपना रही है। ए ग्रेड व बी ग्रेड तकनीशियों के ग्रेड को एक ग्रेड में लाने की जयज मांग को सरकार नजरअंदाज कर रही है। उन्होंने कहा कि सी ग्रेड से बी ग्रेड में प्रमोशन का समय सीमा को कम कर पांच साल करने की मांग को सरकार अनसुना कर रही है।


उन्होंने आरोप लगाया कि वैज्ञानिकों को प्रमोशन के अवसर पर अतिरिक्त बढ़ोत्तरी दी जाती है जबकि तकनीकि स्टाफ को ऐसे किसी लाभ से दूर रखा जाता है। सरकार को कर्मचारियों के हितों को देखते हुए प्रशासन, भंडार व चतुर्थ श्रेणी कैडर का रिव्यू तुरंत कर देना चाहिए था लेकिन ऐसा न कर सरकार आन्दोलन को मजबूर कर रही है। मोहन ने कहा कि मंगलवार से दस जुलाई तक क्रमिक भूख हड़ताल की जाएगी। इस दौरान यूनियन के अध्यक्ष विमल सिंह राठौर, उपाध्यक्ष सीएल काथौर, संगठन मंत्री कुल बहादुर कार्की, हर्षपाल सिंह रावत, अतर सिंह व प्रतिपाल सिंह आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वेतन विसंगतियों को लेकर आरपार की तैयारी