अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इरफान के बाद अब धोनी का नंबर

इरफान के बाद अब धोनी का नंबर

महेंद्र सिंह धोनी का नाम भले ही कितनी अभिनेत्रियों के साथ जुड़ता रहा हो पर रांची के इस राजकुमार ने अभी शादी के बारे में कोई फैसला नहीं लिया है। हालांकि उनके घरवालों को प्रेम विवाह से भी कोई ऐतराज नहीं है और उन्होंने यह फैसला माही पर ही छोड़ दिया है।

इरफान पठान की शादी पक्की होने के बाद अब क्रिकेट प्रेमियों को धोनी से इस खुशखबरी का इंतजर है, लेकिन मंगलवार को अपना 28वां जन्मदिन मनाने जा रहे भारतीय कप्तान के एजेंडे में फिलहाल शादी नहीं, उनका कैरियर सवरेपरि है।

उनके भाई नरेंद्र धोनी ने कहा, 'हम माही के लिए लड़की नहीं तलाश रहे। उसे जिससे शादी करनी होगी, हम सभी तैयार हैं। हमने यह फैसला उस पर छोड़ दिया है।' दीपिका पादुकोण से लेकर लक्ष्मी राय तक अभिनेत्रियों का नाम धोनी के साथ जुड़ने के बारे में उन्होंने कहा, 'यह सब मीडिया के दिमाग की उपज है। माही अपने परिजनों के बहुत करीबी हैं और यदि वह किसी को जीवनसंगिनी बनाने का फैसला लेगा तो सबसे पहले हमें ही बताएगा। हमें उसके प्रेम विवाह करने पर भी कोई ऐतराज नहीं है।'

उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि शादी के लिए माही को कोई डैडलाइन नहीं दी गई है और हमें भी कोई जल्दी नहीं है। अभी उसकी प्राथमिकता कैरियर है और अभी उसकी उम्र भी ज्यादा नहीं हुई है।

वेस्टइंडीज में एक दिवसीय सीरीज में मोर्चे से टीम की अगुवाई कर रहे माही को जन्मदिन पर क्या संदेश देंगे, यह पूछने पर नरेंद्र ने कहा, 'हम सभी चाहते हैं कि वह लंबे समय तक खेलें और उसकी कप्तानी में टीम इंडिया 2011 विश्व कप जीते।' माही को फिलहाल महान क्रिकेटरों की जमात में शामिल करने से इंकार करते हुए उन्होंने कहा कि अभी उसे लंबा सफर तय करना है।

उन्होंने कहा, 'महान क्रिकेटर तो सचिन तेंदुलकर है। उनके जैसा बनने के लिए माही को अभी लंबा सफर तय करना है।' यह पूछने पर कि टीम इंडिया के व्यस्त कार्यक्रम के चलते माही के साथ अधिक समय नहीं बिता पाने का मलाल क्या परिवार को है। इस पर नरेंद्र ने कहा, बिल्कुल है। जिस भाई ने दुनिया भर में हमारे परिवार का और देश का नाम इतना रोशन किया, उस पर हमें नाज है। लेकिन दुख इसी बात का है कि वह पहले की तरह हमारे साथ समय नहीं बिता पाता।'

उन्होंने यह भी कहा कि सफलता के शिखर पर पहुंचने के बावजूद माही बिल्कुल नहीं बदला है और पहले की तरह सरल है। नरेंद्र ने कहा, माही ने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए बहुत मेहनत की है। उसने रेलवे में नौकरी की, क्रिकेट के मैदान पर खूब पसीना बहाया और तभी कामयाबी मिली। उसकी खासियत यही है कि इतना कामयाब होने के बाद भी वह बदला नहीं है। रांची आने पर वह पहले जसा माही ही रहता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इरफान के बाद अब धोनी का नंबर