DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गया में नक्सलियों ने दो बसों को किया अगवा

प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के हथियारबंद दस्ते ने जिला मुख्यालय से 90 किलोमीटर दूर डुमरिया थाने के मैगरा- गंगटीमोड़ के समीप शनिवार की दोपहर दो निजी यात्री बसों को अगवा कर लिया। दस्ते में लगभग 50 नक्सली थे।


डुमरिया से गया आ रही और गया से डुमरिया की ओर जा रही महारानी रोडवेज की दोनों बसों को नक्सलियों ने अपने कब्जे में लेकर यात्रियों को वहीं उतार दिया। नक्सली दस्ता चालक-खलासी और कंडक्टर सहित आठ बसकर्मियों को भी कब्जे में कर बसों लेकर देवजरा जंगल की ओर चला गया। इस घटना से इमामगंज-डुमरिया इलाके में सनसनी फैल गई।


पुलिस अधीक्षक एमआर नायक ने बताया कि बसों और कर्मचारियों को  मुक्त कराने के लिए सीआरपी के साथ देवजरा जंगल में छापेमारी कराई जा रही है। यह इलाका माओवादियों का गढ़ माना जाता है। बताया जाता है कि माओवादियों ने  लेवी और रैली में बस नहीं देने के कारण घटना को अंजाम दिया है। हालांकि इस कारण की अभी पुष्टि नहीं हुई है।


विदित हो कि करीब बीस वर्षो से महारानी रोडवेज की बसें गया से डुमरिया-इमामगंज और कोठी थाना क्षेत्र के लिए चला करती हैं। लोगों का कहना है कि माओवादी किसी गंभीर मामले को लेकर बस संचालक से नाराज चल रहे हैं इसी वजह से बसों को अगवा किया गया है। इधर आठ बसकर्मियों को अगवा करने को लेकर निजी बसों के कर्मी ज्यादा परेशान हैं। घटना के बाद उस इलाके में वाहनों की आवाजाही भी बंद हो गई है। पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील नजर आ रहा है। घटनास्थल पर वरीय अधिकारी भी पहुंच गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गया में नक्सलियों ने दो बसों को किया अगवा