अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समलैंगिकता को लेकर छिड़ा साइबर युद्ध

समलैंगिकता को लेकर छिड़ा साइबर युद्ध

वयस्कों के बीच परस्पर सहमति से बने समलैंगिक संबंधों को वैध घोषित ठहराए जाने के दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले पर लोगों की मिश्रित प्रतिक्रिया हो रही है। कुछ इसे महान फैसला करार दे रहे हैं तो कुछ एक ही लिंग के लोगों के बीच संबंधों को अप्राकतिक तथा भारतीय संस्कृति के खिलाफ बता रहे हैं।

इतना ही नहीं इस मुद्दे पर लोगों के बीच साइबर युद्ध भी छिड़ गया है और वे इस संबंध में ब्लॉग तथा मीडिया वेबसाइटों पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे हैं।

महाराष्ट्र के ठाणे से एक व्यक्ति ने लिखा है कि अदालत का फैसला सभी व्यक्तियों को गरिमा प्रदान करेगा। एक अन्य व्यक्ति ने इसे महान फैसला करार देते हुए लिखा है कि इससे प्रत्येक व्यक्ति स्वतंत्र रहेगा और वह अपनी स्वतंत्र इच्छा के अनुरूप जीवन व्यतीत कर सकेगा।

एक अन्य व्यक्ति ने लिखा है कि समलैंगिक संबंधों को बहुत देर से वैध घोषित किया गया है। पूरी दुनिया में लोगों द्वारा समलैंगिकों को स्वीकार किया जा रहा है तो फिर भारत में क्यों नहीं। ऐसे भी बहुत से लोग हैं जो समलैंगिकता को अप्राकतिक, धर्म विरोधी और भारतीय संस्कृति के खिलाफ बता रहे हैं। बहुत सी टिप्पणियों में समलैंगिक स्त्री और समलैंगिक पुरुष समुदाय के लोगों के लिए कड़ी भाषा का भी इस्तेमाल किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:समलैंगिकता को लेकर छिड़ा साइबर युद्ध