DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पम्पिंग सेट सब्सिडी घोटाला की जांच सर्तकता विभाग को

बिहार विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने पम्पिंग सेट सब्सिडी घोटाला की जांच राज्य सतर्कता अन्वेषण ब्यूरो से कराने का आदेश दिया है।

विधान सभा में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के रामदास राय के अल्प सूचित प्रश्न पर कृषि मंत्री रेणु कुमारी के जवाब के दौरान हस्तक्षेप करते हुए सभाध्यक्ष चौधरी ने पम्पिंग सब्सिडी घोटाले की जांच सतर्कता विभाग से कराने का आदेश दिया। इससे पूर्व  रेणु कुमारी ने सदन में स्वीकार किया कि किसानों को अनुदान पर पम्पिंग सेट देने के मामले में अनियमितता हुई है और इसकी जांच कराई जा रही है।

रेणु ने कहा कि मामले की जांच के लिए प्रमंडलीय कृषि निदेशक की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद जरूरत पड़ने पर इस मामले की जांच निगरानी से कराई जाएगी।

इस पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने हस्तक्षेप करते हुए इस मामले की गंभीरता को स्वीकार किया और कहा कि इस मामले में बैंकों के अधिकारी लिप्त है। उन्होंने कहा कि बैंकों से जब किसानों को दिए गए पम्पिंग सेट की संख्या के बारे में जानकारी मांगी गई तो उन्होने सरकार को यह आकंडा नहीं दिया गया जिसके कारण राज्य सरकार को दो साल तक यह योजना रोक देनी पड़ी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सतर्कता विभाग समेत किसी से भी इस मामले की जांच कराने के लिए तैयार है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पम्पिंग सेट सब्सिडी घोटाला की जांच सर्तकता विभाग को