DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गिरफ्तारी और सीनाजोरी

वरुण गांधी ने दिल्ली हाईकोर्ट में अपनी अग्रिम जमानत की अर्जी वापस ले ली है। यह साफ है कि वे अपनी गिरफ्तारी को एक राजनैतिक मुद्दा बनाकर उसका फायदा उठाना चाहते हैं। दूसरी ओर गुजरात की उच्चशिक्षा मंत्री माया कोडनानी की अग्रिम जमानत याचिका गुजरात हाईकोर्ट ने रद्द कर दी। इन दोनों नेताओं की गिरफ्तारी चुनावी माहौल में समर्थकों को जोश दिलाने और सहानुभूति लहर पैदा करने के लिए इस्तेमाल की जाएगी, लेकिन यह देखने की बात होगी कि क्या आम मतदाता पर इन बातों का असर होगा। कुछ चाह कर, ओर कुछ अनचाहे भाजपा फिर से चुनाव में सांप्रदायिकता का कार्ड चलाने के लिए तैयार हो रही है। राजग के शासन काल में भाजपा ने एक थोड़ी दक्षिणपंथी, ज्यादा मध्यमार्गी राजनैतिक पार्टी के रूप में कांग्रेस का विकल्प बनने की कोशिश की थी, लेकिन गुजरात के दंगों ने उस कोशिश को काफी हद तक असफल कर दिया था। इस चुनाव अभियान के शुरुआती दौर में लालकृष्ण आडवाणी ने व्यापक जनसमर्थन पाने के लिए कुछ उदार छवि बनाने की शुरुआत की थी, लेकिन अब फिर उग्र हिंदुत्व उसके एजेंडे पर लौट आया है। वरुण गांधी, माया कोडनानी और उनकी पार्टी भले ही उनकी गिरफ्तारी को राजनैतिक शहादत बनाने की कोशिश कर, लेकिन किसी संप्रदाय के खिलाफ उग्र और घृणास्पद बातें करने या सांप्रदायिक दंगों में भाग लेने के आरोप ऐसे नहीं हैं, जिन पर गर्व किया जा सके। वैसे भी इन आरोपों को लेकर भाजपा उहापोह में रही है। एक ओर वह कह रही है कि वरुण गांधी ने जो कहा वह उनकी पार्टी की लाइन नहीं है, दूसरी ओर वह उस सीडी को फर्ाी बता रही है। पहले वरुण गांधी अग्रिम जमानत लेने की कोशिश करते रहे, नाकाम रहे तो उंगली कटा कर शहीद होने की कोशिश कर रहे हैं। माया कोडनानी तो मंत्री होते हुए गिरफ्तारी से बचने के लिए कई दिनों तक भूमिगत हो गईं और अग्रिम जमानत की कोशिश करती रहीं। भाजपा इन मामलों को राजनैतिक रंग देने की बजाए जिम्मेदार रवैया अपनाकर इन्हें कानून-व्यवस्था के मामले ही बने रहने दे तो उसकी साख बढ़ेगी। आजादी के आंदोलन में स्वेच्छा से गिरफ्तारी देना अलग बात थी और किसी नफरत भर बयान या कृत्य के लिए अनिच्छा से जेल जाना बिल्कुल दूसरी बात है। अब तो भाजपा को समझ लेना चाहिए कि देश के लोग यह फर्क जानते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गिरफ्तारी और सीनाजोरी