DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आडवाणी के बयान पर उठा विवाद

असम में एक चुनावी सभा में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के उस एलान से बवाल खड़ा हो गया है जिसमें उन्होंन कहा था कि अगर केंद्र में उनकी सरकार बनेगी तो प्रदेश के दो समुदायों के लिए एक स्वायत्त राज्य बनाया जाएगा। आडवाणी क इस एलान पर असम क कुछ प्रभावशाली संगठनों न आरोप लगाया है कि भाजपा चुनावी फायद क लिए राज्य को विभाजित करन का प्रयास कर रही है। असम जातीयतावादी युवा छात्र परिषद क सलाहकार दिलीप पटगिरी न कहा, ‘संविधान क अनुच्छद 244(ए) मं कारबी और दिमासा समुदायों क लिए स्वायत्त राज्य का प्रावधान होन क बावजूद कोई भी असम का बंटवारा नहीं चाहता। राज्य को अधिक शक्ति या पूर्ण स्वायत्ता दन मं कोई आपत्ति नहीं है लकिन राज्य का बंटवारा नामंजूर है।’ राज्य क पूर्व मुख्य सचिव एन.एन. दास न कहा, ‘आडवाणी का बयान हास्यासपद है। जातीय आधार पर राज्य का बंटवारा कोई स्वीकार नहीं करगा।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आडवाणी के बयान पर उठा विवाद