DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीआईपी सुरक्षा की समीक्षा कर रहा है: केन्द्र

केन्द्रीय गृह मंत्रालय अति विशिष्ठ व्यक्तियों (वीआईपी) को दी जा रही सुरक्षा को तर्कसंगत बनाने तथा सुरक्षा के नाम पर उपलब्ध सुविधाओं में कटौती के लिए इस पूरी व्यवस्था की समीक्षा कर रहा है।


गृह सचिव मधुकर गुप्ता यह समीक्षा कर रहे हैं और आधिकारिक सूत्रों के अनुसार आरंभिक जांच से पता चला है कि कई लोगों को बिना किसी ठोस तर्क के वीआईपी सुरक्षा दी जा रही है जबकि कई वीआईपी किसी तरह के खतरे के कारण नहीं बल्कि प्रतिष्ठा के प्रतीक स्टेटस सिंबल के तौर पर सुरक्षा पा रहे हैं।


सूत्रों का कहना है कि समीक्षा के निर्देश के साथ गुप्ता को वीआईपी सुरक्षा प्राप्त 100 गणमान्य लोगों की एक सूची भी सौंपी गई है। जिसमें पूर्व मंत्रियों, शिवराज पाटिल, नटवर सिंह एवं जगमोहन के नाम शामिल हैं। इस कदम के पीछे वीआईपी सुरक्षा पर होने वाले भारी भरकम खर्च को लेकर मंत्रालय की चिंता तो है ही। समझा जाता है कि गृहमंत्री पी चिदम्बरम की स्पष्ट राय है कि यह सुरक्षा केवल उन लोगों को दी जानी चाहिए जो किसी संवैधानिक पद पर आसीन हों। या जिनकी जान को किसी तरह के खतरे की ठोस आशंका हो। ज्ञातव्य है कि  चिदम्बरम ने ऐसी कोई सुरक्षा लेने से इंकार कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वीआईपी सुरक्षा की समीक्षा कर रहा है: केन्द्र