DA Image
26 फरवरी, 2020|10:36|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोल इंडिया में भ्रष्टाचार हैः जायसवाल

केंद्रीय कोयला राज्यमंत्री श्रीप्रकाश जयसवाल ने स्वीकार किया कि कोल इंडिया में भ्रष्टाचार है। उनके मुताबिक यहां सुधार की पर्याप्त गुंजइश है। सभी को इसका संकेत दे दिया गया है। सीबीआइ भी सक्रिय है। अकर्मण्यता, अप्रतिद्धता बर्दाश्त नहीं होगी। वह हर कीमत पर कंपनी का उत्पादन और लाभ बढ़ाना चाहते हैं। मुनाफा से ही गरीब और वंचितों की सेवा होती है।

झरखंड की कोल कंपनी से बड़ी अपेक्षा नहीं की जा सकती है। विपरीत परिस्थिति से जूझते हुए सीसीएल की प्रगति असंतोषजनक नहीं है। वह शनिवार को प्रेस से बात कर रहे थे। मंत्री ने कहा कि परिस्थिति अनुकूल बनने का लंबा प्रोसेस है। कंपनी संसाधन का बेहतर प्रयोग कर, चतुराई से इसे अनुकूल बना सकते हैं। अभी दौरे में असंतोष में सुधार के लिए वह इंगित कर चुके हैं। हर तीन माह पर वह कंपनियों का दौरा करेंगे। रिपोर्ट लेते रहेंगे।

इसके बाद कोई नीतिगत निर्णय लेंगे। पर्यावरण क्लीयरेंस, भूमि अधिग्रहण, फॉरेस्ट क्लीयरेंस आदि बाधा को हटाने का काम शुरू कर चुके हैं। लाभ नहीं बढ़ने से गरीब को नुकसार होगा। श्रमिक प्रतिनिधि, अधिकारी एवं जनता को यह बात समझनी चाहिये। मुनाफे में पलीता लगाने एवं उत्पादन बढ़ाने में बाधा पहुंचाने वालों को गरीब विरोधी परिधि में रखेंगे।

राज्य सरकार को अवैध खनन के विरुद्ध टास्क फोर्स बनाने में कोयला कंपनी का प्रतिनिधि भी रखना चाहिये। इससे उसमें मदद मिलेगी। राज्य सरकार को कानून-व्यवस्था बहाल करने में पूरी तत्परता दिखानी होगी। तब सुधार होगा। कमांड एरिया में अधिक से अधिक कल्याणकारी कार्य करने पर बल दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:कोल इंडिया में भ्रष्टाचार हैः जायसवाल