DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लीक प्रश्नपत्र से हुई परीक्षा

11वीं की परीक्षा में प्रश्नपत्र लीक होने पर झारखंड एकेडेमिक कौंसिल ने नाराजगी जाहिर की। इसका आरोप कॉलेज प्रबंधन पर मढ़ा है। अध्यक्ष डॉ शालीग्राम यादव ने कहा कि यह परीक्षा कॉलेज का इंटरनल एगाम है। बोर्ड की परीक्षा नहीं है। इसमें परीक्षार्थियों को इंटर की फाइनल परीक्षा का पूर्वाभ्यास कराया जाता है। कौंसिल इस मामले में फिलहाल कुछ नहीं कर सकता। मामले की जांच करा ली गयी है। अध्यक्ष ने कहा कि परीक्षा में एकरूपता को लेकर कौंसिल प्रश्नपत्र उपलब्ध कराता है।ड्ढr इधर, 27 की परीक्षा का प्रश्नपत्र 26 मार्च की शाम को ही बाजार में बिकने लगा था। शुक्रवार को लीक प्रश्नपत्र के आधार पर ही सभी प्लस-2 स्कूल एवं कॉलेज में परीक्षा ली गयी। कौंसिल ने कहा कि इस परीक्षा का प्रश्नपत्र एवं उत्तरपुस्तिका एक साथ ही कॉलेज को उपलब्ध करा दी जाती है। यह प्रोमोशन टेस्ट है, हालांकि इसमें पास नहीं होने पर भी बाद में कॉलेज अपनी ओर से परीक्षा संचालित कर संबंधित परीक्षार्थी को फाइनल परीक्षा के लिए फार्म भरने की अनुमति देता है।ड्ढr परीक्षा से खुद को अलग करने पर विचारड्ढr रांची। प्रश्नपत्र लीक होने के मामले को एकेडेमिक कौंसिल ने गंभीरता से लिया है। 11वीं की परीक्षा से वह खुद को अलग करने पर विचार कर रहा है। कौंसिल ने ओएसडी अरविंद बिजय बिलुंग से पूर मामले की जांच करा ली है। मामला फिलहाल विचाराधीन है। सूत्रों की माने तो कौंसिल जल्द ही परीक्षा समिति की बैठक बुलाकर परीक्षा से खुद को अलग करने का प्रस्ताव पारित कर सरकार को भेजेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लीक प्रश्नपत्र से हुई परीक्षा