DA Image
10 जुलाई, 2020|12:02|IST

अगली स्टोरी

दो घरों से ले गये एक लाख के जेवर व नकदी, घटनास्थल पर पहुंचे आईजी

आईजी जोन वाराणसी गुरुदर्शन सिंह  की जिला मुख्यालय में मौजूदगी के बावजूद बेखौफ डकैतों ने गुरुवार की रात में शाहगंज थाना क्षेत्र के डढ़वारा कला गांव में एक दलित युवक की गोली मारकर हत्या कर दो घरों में जमकर लूटपाट की और लगभग एक लाख रुपये के जेवर व नगदी ले गये।

आईजी शुक्रवार को मौके पर पहुंचे और मातहतों को इस घटना का शीघ्र खुलासा करने का निर्देश दिया। क्षेत्र के सहावं गांव में नसीरुल्लाह अपनी पत्नी जमीलत के साथ बरामदे में सोये थे। वहीं बहू मेहनाज व तरन्नुम भी सोयी थीं। रात में करीब साढ़े बारह बजे सात डकैत राइफल, बंदूक और गड़ासी लेकर नसीरूल्लाह के घर पहुंचे और असलहे के बल पर बीमार जमीलत को छोड़ सभी को एक कमरे में बंद कर दिया।

इसके बाद डकैतों ने कमरों में रखी अटैची व आलमारी को तोड़कर दो हजार रुपये, जेवर और चार घड़ी समेत 50 हजर रुपये का सामान समेटा और निकल गये। जमीलत ने कमरे में बंद लोगों को बाहर निकाला। यहां से डकैत दलित बस्ती के बाबूराम के घर पहुंचे और घर के बाहर सोये लोगों को धमकाकर बाबूराम के बारे में पूछने लगे।

इसीबीच बाबूराम की बेटी पूनम मौका देख बस्ती में भाग गयी और लोगों को डकैतों के आने की सूचना दी। इस पर घर के बाहर सोया राजेश (24) पुत्र बच्चूलाल जब दौड़कर मौके पर पहुंचा तो डकैतों ने उसे गोली मार दी। फायरिंग से बस्ती के लोग डरकर दुबक गये और डकैत बाबूराम की पत्नी शारदा के गले, नाक व कान के सोने के गहने छीनकर भाग निकले।

लगभग एक घंटे बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने गोली से घायल राजेश को जिला अस्पताल भेजा जहां उसकी मौत हो गयी। इसके बाद एएसपी सिटी राहुल राय, सीओ शाहगंज व कई थानों की पुलिस भी वहां पहुंची। आईजी गुरुदर्शन ¨सह भी घटनास्थल पर गये और बाबूराम के घर दस मिनट रुककर पूछताछ की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:जौनपुर में युवक की हत्या कर डकैतों ने की लूटपाट