DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विंध्य नदीघाटी ने खोला जीवन के इतिहास का नया अध्याय

विंध्य नदीघाटी ने खोला जीवन के इतिहास का नया अध्याय

विंध्य नदीघाटी के जीवाश्‍मों के एक नए अध्ययन के मुताबिक धरती पर जीवन की शुरुआत पहले के अनुमान से 40 करोड़ साल पहले हुई है।

कर्टिन तकनीकी विश्वविद्यालय के ब्रिगर रासमुसेन की अगुवाई में अंतरराष्ट्रीय शोधकर्ताओं के एक दल ने भारत के विंध्य घाटी के कुछ नमूने का अध्ययन किया और पाया कि यहां के जीवाश्म 1.6 अरब साल पुराने हैं। यह पहले के यहां पाए गए जीवाश्‍मों से एक अरब साल पुराने है, वहीं धरती के किसी भी हिस्से में पाए जीवाश्मों से ये 40 से 60 करोड़ साल पुराने हैं।

शोधकर्ताओं के मुताबिक उन्‍होंने इस काम के लिए दुनिया की सबसे बेहतरीन तकनीक का इस्‍तेमाल किया। प्रो़ रासमुसेन ने बताया कि जीवाश्‍म के शुद्ध परीक्षण के लिए सारे प्रयास किए गए। उनका कहना था कि भारतीय प्रयोगशालाओं में पहले हुई जांचों में त्रुटि हो सकती है।

उन्‍होंने बताया कि जीवाशम के आयु निर्धारण के लिए उसमें मौजूद पास्‍पोरेट का लेड डेटिंग किया गया। करोड़ों साल पहले जीवाश्‍मीकरण की प्रक्रिया में समुद्र तल पर पास्‍पोरेट कार्बनिक पदार्थों पर जमा होने लगे। उनका कहना था कि यह पद्वति काफी सटीक होती है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विंध्य नदीघाटी ने खोला जीवन के इतिहास का नया अध्याय