DA Image
27 फरवरी, 2020|1:39|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन की मांग ने जोर पकड़ा

उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन की असंतुष्टों की मांग ने फिर जोर पकड़ लिया है। इसके मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शीर्ष स्तर पर सोमवार को विचार विमर्श हुआ और समझा जाता है कि भुवनचंद्र खंडूरी मंत्रिमंडल के वरिष्ठ सदस्य रमेश पोखरियाल निशंक और प्रकाश पंत को हाईकमान ने दिल्ली तलब किया है।

उत्तराखंड में खंडूरी और पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी के बीच नेतृत्व के मुद्दे पर लंबे समय से चल रही खींचतान से उत्पन्न स्थिति पर विचार करने के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के निवास पर पार्टी के कोर ग्रुप की बैठक हुई। इस बैठक में आडवाणी, राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह, वरिष्ठ नेता एम वेंकैया नायडू, लोकसभा में पार्टी की उपनेता सुषमा स्वराज और महासचिव अनंत कुमार ने हिस्सा लिया।

भाजपा सूत्रों के अनुसार खंडूरी और कोश्यारी के बीच खींचतान के कारण राज्य में संगठन को हो रहे नुकसान को रोकने के लिए हाईकमान ने राज्य के अन्य वरिष्ठ नेताओं से चर्चा करने का निर्णय लिया है। इस कड़ी में सबसे पहले निशंक और पंत को दिल्ली बुलाया गया है।

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनावों में भाजपा को उत्तराखंड में एक भी सीट नहीं मिली जिसके बाद कोश्यारी और उनके समर्थकों ने खंडूरी को हटाने की मांग तेज कर दी। इस मामले पर कोश्यारी ने तो राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था लेकिन राजनाथ सिंह के समझाने बुझाने के बाद उन्होंने इसे वापस ले लिया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन की मांग ने जोर पकड़ा