DA Image
15 अगस्त, 2020|1:46|IST

अगली स्टोरी

बिहार की दो करोड़ निरक्षर महिलाओं को साक्षर बनाने के लिए 300 करोड़ रुपए की जरुरत

 बिहार सरकार ने राज्य की दो करोड़ निरक्षर महिलाओं को साक्षर बनाने के लिए 300 करोड़ रुपए केन्द्र से मांग की है। राष्ट्रीय महिला साक्षरता मिशन की आज पहली बैठक में भाग लेने के बाद बिहार के प्रधान शिक्षा सचिव अजंनी कुमार सिंह ने कहा कि देश में करीब दस करोड़ महिलाएं निरक्षर हैं और इनमें ज्यादातर बिहार में है। करीब दो करोड़ महिलाएं निरक्षर हैं उन्हें साक्षर बनाने के लिए केन्द्र से करीब 300 करोड़ रुपए की जरुरत होगी।

सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय महिला साक्षरता मिशन की ओर से जब हमें 300 करोड़ रुपए मिलेंगे,तब हम साक्षरता कार्यक्रम को और तेजी से बढा़एंगे। वैसे,बिहार ने पहले ही निरक्षर महिलाओं को साक्षर बनाने का अभियान शुरु किया है।

उन्होंने कहा कि (अक्षर अंचल) नामक इस अभियान के तहत 55 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इसके तहत 40 लाख निरक्षर महिलाओं को साक्षर बनाया जाएगा। अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस के मौके पर आठ सितंबर से छह महीने के लिए यह अभियान औपचारिक रुप से शुरु होगा। उन्होंने कहा कि पटना में 11-12 नवम्बर को नवसाक्षर महिलाओं का एक बडा़ सम्मेलन होगा जिसमें दस हजार महिलाएं भाग लेंगी।

उन्होंने कहा कि हमने केन्द्र से यह भी मांग की है कि महिला साक्षरता मिशन के कार्यक्रमों को लागू करने के लिए राज्यों को अधिक स्वायत्तता दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि अभी साक्षरता मिशन के तहत प्रत्येक जिले को राशि आवंटित की जाती है। उन्होंने कहा कि हर जिले की अपनी जरुरत तथा समस्याएं हैं। इसलिए राज्यों को यह जिम्मेदारी दी जानी चाहिए कि वह प्रत्येक जिलों को उसकी जरुरत के हिसाब से राशि प्रदान करें।

उन्होंने कहा कि हम लोग इस बात का इंतजार कर रहे हैं कि राष्ट्रीय महिला साक्षरता मिशन का काम जल्द से जल्द शुरु हो।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:दो करोड़ महिलाओं को साक्षर बनाने के लिए 300 करोड़