DA Image
26 फरवरी, 2020|11:29|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में नक्सलियों के बंद का मिलाजुला असर

पश्चिम बंगाल के मिदनापुर जिले के लालगढ़ में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के खिलाफ शुरू किए गए अभियान के विरोध में बिहार समेत पांच राज्यों में सोमवार से दो दिनों के बंद का प्रदेश में मिलाजुला असर देखा गया। पुलिस ने बंद के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजम किए हैं।

बिहार के नक्सल प्रभावित गया, रोहतास, औरंगाबाद सहित कई जिलों में बंद का यातायात पर व्यापक प्रभाव देखा जा रहा है। नक्सल प्रभावित इलाकों के ग्रामीण क्षेत्रों में दुकानें बंद हैं जबकि आवागमन लगभग ठप है। पटना से झारखंड जाने वाली लंबी दूरी की बसों का संचालन रोक दिया गया है। इस कारण यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इधर, जीटी रोड पर भी वाहनों की आवाजही में कमी देखी जा रही है।

राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (विधि-व्यवस्था) वी़ नारायणन ने सोमवार को बताया कि बंद से निपटने के लिए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 24 अतिरिक्त कंपनियों को तैनात किया गया है। उन्होंने बताया कि राज्य के सभी सड़कों खासकर जीटी रोड पर विशेष गश्ती की जा रही है।

उन्होंने कहा कि रेलवे पटरियों, रेलवे स्टेशनों तथा आधारभूत संरचनाओं पर विशेष निगरानी रखी जा रही है। नारायणन के मुताबिक अब तक कहीं से किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:बिहार में नक्सलियों के बंद का मिलाजुला असर