DA Image
24 फरवरी, 2020|11:36|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नइ फिल्म पेइंग गेस्ट...

नइ फिल्म पेइंग गेस्ट...

कहानी : भावेश (श्रेयस तलपड़े), पराग (जावेद जाफरी), परितोष (आशीष चौधरी) बैंकॉक में  किसका मिगलानी (असरानी) के घर बतौर पेइंग गेस्ट रहते हैं। किन्हीं कारणों से तीनों की नौकरी छूट जाती है। ऐसे में परितोष का एक संबंधी (वत्सल सेठ) भी इनके साथ रहने लगता है, लेकिन एक दिन मिगलानी भी उन्हें घर से निकाल देता है। इन चारों को बिल्लू सिंह के घर पेइंग गेस्ट बनकर रहना पड़ता है, लेकिन इसके लिए पराग और भावेश को महिलाओं का रूप धारण करना पडम्ता है।  पेइंग गेस्ट बनकर रहना पडम्ता है। एक दिन रौनी (चंकी पांडे) के एक साथी को पराग और भावेश की असलियत पता चल जाती है और वह बिल्लू सिंह को सब बता देता है। अब पराग और उसके दोस्त यह ठान लेते हैं कि किसी भी कीमत पर वह रौनी के हाथों रेस्तरां के कागज नहीं लगने देंगे। 
 
निर्देशन : पारितोष पेंटर ने पूरी कोशिश की है कि वह मुक्ता आर्ट्स की ही ‘अपना सपना मनी मनी’ की सफलता को दोहराने के साथ-साथ भुना भी सकें। इस मामले में उन्होंने फिल्म के कई हिस्सों में सफलता भी पाई है, लेकिन पटकथा कई जगह काफी कमजोर रही। 
अभिनय : रिया सेन, नेहा धूपिया और सियाली भगत के हिस्से की अवधि सेलिना जेटली ले गयीं। श्रेयस तलपड़े और जॉनी लीवर सब पर भारी रहे।  
  
गीत-संगीत :  ‘जैक एंड जिल’ गीत के बीट्स अच्छे हैं। साजिद-वाजिद ने इस गीत पर मेहनत की है। 
क्या है खास : बैंकॉक के लोकेशंस,   वह सभी सीन्स, जिनमें श्रेयस तलपड़े और जावेद जाफरी महिला के गेटअप में दिखाई दिये हैं। 
क्या है बकवास : पेंटल के आने पर जावेद जाफरी का हर बार अलमारी में छिपना। 
पंचलाइन : फिल्म की स्टार वेल्यू तो है, पर दर्शकों को इन दिनों थोड़े और मसाले एवं ठहाकों की जरूरत है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:नइ फिल्म पेइंग गेस्ट...