DA Image
31 मार्च, 2020|12:11|IST

अगली स्टोरी

सैन्य अभियान के विरोध में आए इमरान खान

सैन्य अभियान के विरोध में आए इमरान खान

पाकिस्तान में विपक्ष के नेता और क्रिकेट लीजेंड इमरान खान ने कहा है कि पश्चिमोत्तर क्षेत्र में जारी सैन्य अभियान के कारण देश के लिए ही खतरा पैदा हो गया है।

इसके साथ ही खान ने अमेरिका से अनुरोध किया कि वह अफगानिस्तान में अपनी गतिविधियां धीरे-धीरे सीमित करे। वाशिंगटन की यात्रा पर आए खान ने कहा कि पाकिस्तानी सेना के सामने नैतिकता का संकट है। एक अनुमान के अनुसार अशांत पश्चिमोत्तर क्षेत्र में अभियान में शामिल करीब 25 प्रतिशत जवान उसी पश्तून समुदाय के हैं जिसके स्थानीय लोग हैं।

वाशिंगटन थिंकटैंक मिडल ईस्ट इंस्टीट्यूट में खान ने कहा कि पाकिस्तान संकट में है।  सरकारी सैनिक कब तक अपने लोगों के खिलाफ ही युद्ध करते रहेंगे। खान ने सीनेटर जॉन कैरी सहित कई सांसदों से भेंट की और कहा कि अमेरिका पाकिस्तान के पड़ोसी देश अफगानिस्तान में पहले अपना सैन्य अभियान समाप्त करे। अमेरिका में 9/11 की घटना के बाद अफगानिस्तान में सैन्य अभियान शुरू किया गया था।

पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने कहा कि अमेरिका को अफगानिस्तान से बाहर निकलने की रणनीति पर विचार करना चाहिए। जब तक अफगानिस्तान में कुव्यवस्था है या वहां संघर्ष जारी है, पाकिस्तान के कबायली इलाके में शांति नहीं हो सकती। पाकिस्तानी सेना सात हफ्ते से अधिक समय से अशांत पश्चिमोत्तर प्रांत में कट्टरपंथियों के खिलाफ अभियान चला रही है। इसके पहले तालिबान के लड़ाके राजधानी इस्लामाबाद के करीबी इलाकों तक पहुंच गए थे।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:सैन्य अभियान के विरोध में आए इमरान खान