DA Image
26 फरवरी, 2020|10:18|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीआरआईसी

तेजी से बढ़ने वाली चार अर्थव्यवस्थाओं वाले चार देशों ब्राजील, रूस, भारत और चीन के नए समूह का नाम है बीआरआईसी। इनवेस्टमेंट बैंकिंग, इनवेस्टमेंट मैनेजमेंट और सेक्योरिटीज सर्विसेज कंपनी गोल्डमेन सैख्स के अनुसार 2050 तक इन चारों देशों की संयुक्त अर्थव्यवस्था मौजूदा सबसे धनी देशों से आगे होंगी। गोल्डमेन सैख्स के अनुसार चारों देश बेशक यूरोपीय संघ की तरह नया व्यापार संघ भले ही न बनाए लेकिन वह राजनीतिक और क्षेत्रीय आधार पर निश्चित ही अपना असर पुख्ता करना चाहते हैं। इस 16 जून को रूस के येकातेरिनबर्ग में चारों देशों के नेताओं की पहली बैठक हुई थी।

चारों देशों के पास पूरी दुनिया का 25 प्रतिशत क्षेत्रफल और 40 प्रतिशत आबादी है। और चारों का सकल घरेलू उत्पाद कुल मिलाकर 15.435 खरब डॉलर है। साथ ही यह भी कहा गया है कि चारों देशों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मंचों में अमेरिका के निर्णयों के समक्ष खड़े होने के लिए इस समूह की स्थापना की गई है।

बीआरआईसी की पहली बैठक में चारों देशों के नेताओं ने मौजूदा अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक स्थिति के साथ-साथ आपस में मिलकर काम करने के हालात को बेहतर बनाने पर विमर्श किया गया। चारों सदस्य देशों के पास के विकासशील देशों के साथ भविष्य में वश्विक मामलों में कैसे सहयोग किया जा सकता है, पर भी विचार किया गया। बैठक में जारी वक्तव्य में कहा गया कि वश्विक स्तर पर डॉलर के मुकाबले एक रिजर्व करेंसी शुरू करने पर भी बल दिया गया जो स्थायी हो। इस बैठक से पूर्व 16 मई 2008 को चारों देशों की बैठक येकातेरिनबर्ग में हो चुकी है।