अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गिरिडीह के डीएम के खिलाफ जांच के आदेश

लघु वन पदार्थ परियोजना प्रमंडल गिरिडीह के प्रमंडलीय प्रबंधक जेपी सिन्हा के खिलाफ वन विभाग के सचिव सुखदेव सिंह ने जांच का आदेश दिया है। जांच का जिम्मा हाारीबाग के आरसीसीएफ को दिया गया है। आरसीसीएफ को 15 दिनों के अंदर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है। शारदा प्रसाद सिंह ने शपथ पत्र के साथ जेपी सिन्हा पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए एक पत्र राज्यपाल की सलाहकार सुनीला वसंत को भेजा है। इसी पत्र के आलोक में जांच का आदेश दिया गया है। पत्र में केंदू पत्ता के संग्रहण में गड़बड़ी का आरोप है। श्री सिन्हा पर यह आरोप है कि उन्होंने अपने एक प्रिय वनपाल के माध्यम से सतगांवा प्रक्षेत्र में वर्ष 2008 में केंदू पत्ता के संग्रहण में हाइकोर्ट के आदेश के खिलाफ गड़बड़ी की। इसके अलावा अपने चहेतों को गिरिडीह में पदस्थापित करने, बगैर बिल के अग्रिम उठाने और व्यक्ितगत कार्य के लिए 25 हाार रुपये अग्रिम लेने जसे गंभीर आरोप हैं। ये वही जेपी सिन्हा हैं, जिनके खिलाफ हाल ही में प्रमंडल के सभी आठ रांरों ने प्राथमिकी दर्ज करने के लिए महाप्रबंधक से अनुमति मांगी थी। रांरों का आरोप है कि श्री सिन्हा उन्हें उग्रवादियों से जान मरवाने की धमकी देते हैं। अपनी बेटी की शादी में इन रांरों से 20 लाख रुपये की भी मांग की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गिरिडीह के डीएम के खिलाफ जांच के आदेश