DA Image
10 अप्रैल, 2020|7:52|IST

अगली स्टोरी

अप्रैज़ल फीडबैक

कॉर्पोरेट सेक्टर में कर्मचारी की परफॉर्मेस अप्रैज़ल के बाद हमेशा फीडबैक लिया जाता है। इसे गरिमा के साथ स्वीकार करें। और अगर आप किसी की राय को सहन नहीं कर सकते, तो अपना स्वभाव बदलें। इसके लिए अपने इर्दगिर्द लोगों से अपने काम के बारे में उनकी राय पूछें, और किसी के कमेंट का बुरा न मानें। उसके हिसाब से अपने में सुधार करें। इससे आप करियर में शानदार मौके लेने में सफल रहेंगे।

फीडबैक लेने के फायदे

फीडबैक सैशन में सकारात्मक सोच के साथ जाएं। धर्य से अप्रैज़र की बात सुनें। बीच में फालतू रुकावट न डालें। अगर अप्रैज़र अपसैट हो गया, तो मीटिंग का अंत सुखद नहीं होगा।

सैशन में अप्रैज़र का शुक्रिया अदा करें। कहें कि उनकी निष्पक्ष राय से आपके लिए करियर की सफलता का रास्ता खुल गया है। निगेटिव सोच में फायदा नहीं है।

फाइल में आपके सीनियर ने जो कमेंट दिया है, उसे नोट कर लें, इस पर दो दिन चिंतन करें, और शांत होकर इसका अर्थ ग्रहण करें।

परफॉर्मेस रिव्यू का सैशन कठिन रहा, तो हौसला कायम रखने के लिए बाहर खाना खाने जाएं, या दोस्त के साथ मूवी देखने चले जाएं।

अपने फीडबैक के बारे में किसी को कुछ न बताएं। बहुत ही खास रिश्ता हो, तो बात अलग है।

फीडबैक का अभ्यास अप्रैज़र पर नहीं, किसी और पर करें। पूछें कि आप पुराने ढर्रे पर तो नहीं चल रहे?

खुद को फीडबैक के लिए तैयार करना भी आसान नहीं है। सहकर्मियों से अपने काम पर बेबाक टिप्पणी लेकर खुद में बदलाव लाएं, और उस पर भी लोगों की राय लेते रहें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:अप्रैज़ल फीडबैक