DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राहुल की मेहनत से आए अच्छे परिणाम, हम सबके लिए गर्व और खुशी की बात

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि आने वाला वक्त यूपी में कांग्रेस के लिए शुभ होगा। उन्होंने कहा इस लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में जो कामयाबी मिली वह हम सबके लिए गर्व और खुशी की बात है। यूपी से एक अच्छी शुरूआत हुई है। हमें अब यहाँ संगठन को मजबूत करना है ताकि आने वाली हर चुनौती का सामना कर सकें। सोनिया गांधी ने कांग्रेस की शानदार जीत का सेहरा राहुल गांधी के सिर बाँधा।

श्रीमती गांधी गुरुवार को यहाँ कार्यकर्ता आभार समारोह में बोल रही थीं। चुनाव जीतने के बाद अपने संसदीय क्षेत्र में उनका यह पहला दौरा था। रायबरेली की चुनाव प्रभारी प्रियंका गांधी उनके साथ थीं। सोनिया के स्वागत में कार्यकर्ताओं ने पूरी रायबरेली को तिरंगे झंडे और स्वागत द्वारों से सज कर रखा था। फिरोज गांधी डिग्री कालेज के परिसर में कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि 2009 का लोकसभा चुनाव ऐतिहासिक चुनाव था।

कांग्रेस को भारी बहुमत मिला। कांग्रेस ने एंटी इनकमबैंसी की लहर को नाकाम किया। ऐसा बहुत वर्षो के बाद हुआ कि सरकार के खिलाफ जनता नाराज नहीं थी। सम्प्रदायवाद व जातपात की राजनीति करने वालों को देश की जनता ने नकार दिया। उन्होंने कहा राहुल के योगदान का इतना अच्छा परिणाम कांग्रेस पार्टी को मिला है। सोनिया ने कहा कि यूपीए सरकार ने 2004 के सभी वादे पूरे करने की कोशिश की।

नरेगा, किसानों की कर्ज माफी, सूचना का अधिकार, ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन जैसी योजनाएँ शुरू हुई। लोगों को महसूस हुआ कि प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह के नेतृत्व में चल रही ऐसी सरकार है जो हर वर्ग के लिए काम करती है। श्रीमती गांधी ने कहा कि ‘रायबरेली का मैं दिल से शुक्रिया अदा करती हूँ। मुझे सभी कार्यकर्ताओं पर गर्व है जिन्होंने तमाम दबावों के बावजूद कांग्रेस का झंडा लहराए रखा।’

उन्होंने कहा कि रायबरेली में विकास के काफी काम हुए। लेकिन कई काम नहीं भी हो पाए। पुराने सभी काम पूरे होंगे। रायबरेली में नए काम भी शुरू किए जाएँगे। सोनिया ने अपनी बेटी प्रियंका के लिए कहा कि चुनाव में वह देश भर के दौरे पर थीं पर प्रियंका ने यहाँ मेरी कमी महसूस नहीं होने दी। इससे पहले प्रियंका गांधी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि वह जनता और नेता के बीच पुल का काम करें। जनता की बात नेता तक पहुँचाएँ। यही सच्ची सेवा है।

उन्होंने कहा कि रायबरेली के विकास में तभी तेजी आएगी जब कार्यकर्ता जनता और नेता के बीच की  कड़ी बन जाएँ। सम्मेलन स्थल में रायबरेली की पाँचों विधानसभाओं के अलग-अलग पंडाल बने थे। सोनिया गांधी ने हर पंडाल में जाकर विधानसभा क्षेत्रवार कार्यकर्ताओं से बात की। कार्यकर्ता अनुशासित सिपाहियों की तरह उनसे मिले। केवल बछरावाँ के पंडाल में थोड़ा उपद्रव हुआ।

सोनिया विभिन्न प्रतिनिधिमंडलों से भी मिलीं। मीडिया को पूरी तरह इस सम्मेलन से दूर रखा गया था। श्रीमती गांधी दोपहर बाद वापस दिल्ली लौट गईं। लेकिन उन्होंने रायबरेली से वादा किया वह जल्द ही दोबारा आएँगी और चार-पाँच दिन यहाँ गुजरेंगी। तब वह गाँव-गाँव जकर जनता का शुक्रिया अदा करेंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी में आने वाला वक्त कांग्रेस का: सोनिया