DA Image
10 अप्रैल, 2020|7:49|IST

अगली स्टोरी

बाल गिरें तब

आज के दौर में बाल गिरने की समस्या आम हो चुकी है। इसके कई कारण होते हैं।

कई लोगों में बाल गिरने की समस्या आनुवांशिक होती है, तो कई में बाल किसी गंभीर बीमारी के कारण गिरने लगते हैं।

प्रेगनेंसी के बाद या एकदम से वजन कम होने के कारण भी लोगों के बाल कमजोर होने की समस्या हो जाती है।

बालों में डैंड्रफ या सिर में इंफेक्शन होने की वजह से भी बालों की समस्या हो जाती है।

आयुव्रेद के मुताबिक बालों के गिरने की समस्या शरीर में वात और पित्त की अधिकता के कारण होती है। पित्त में अम्ल होता है और अगर इसकी अधिकता हो, तो उसकी वजह से डैंड्रफ की समस्या हो सकती है। वहीं वात की अधिकता होने की वजह से बाल रूखे हो जाते हैं।

गौर करें 

बादाम के तेल को जैतून के तेल के साथ मिला लें और उसमें कुछ बूंदे नींबू की डाल लें। इसे रात भर सिर में लगाकर छोड़ दें और अगले दिन सुबह सिर धो लें।

पांच बादाम, पटसन के दाने, एक अखरोट और अंजीर रोजना खाएं।

ब्राह्मी तेल बालों की जड़ों को मजबूत करता है। इसकी सहायता से बालों की वृद्धि भी तेजी से होती है।

प्रोटीन का सेवन करना फायदेमंद होता है।

जिंक सप्लीमेंट लेने से बालों की बेहतर वृद्धि होती है।

मेथी के बीजों को रात भर के लिए पानी में भिगो दें। इसे हेयर पैक के तौर पर बालों में लगा लें। इससे बालों की जड़ें मजबूत होती हैं।

मैदा और अन्य रिफांइड आटे से परहेज करें। धूम्रपान न करें।

हेयर स्प्रे या जेल के अधिक इस्तेमाल से बचें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:बाल गिरें तब