DA Image
25 मई, 2020|6:39|IST

अगली स्टोरी

दो टूक

दिल्ली में इन दिनों एक भाजपाई विधायक और एक कांग्रेसी पार्षद की कलह चर्चा में है। सोमवार को पार्षद महोदय ने खुद पर गोली चलाए जाने की शिकायत दर्ज कराई। है तो यह दो जनप्रतिनिधियों की आपसी लड़ाई, लेकिन इसमें समूची राजधानी की ट्रेजेडी छिपी है। यहां विधानसभा में कांग्रेसी विधायक हावी हैं और नगर निगम में भाजपाई पार्षद। दोनों के बीच अहम का टकराव रहता है। इधर के प्रस्तावों को उधर वाले रोक लेते हैं! उधर के प्रोजेक्टों को इधर वाले! नतीजा भुगतती है पब्लिक। न बिजली-पानी की सप्लाई सुधरती है, न सड़कों की दशा। न गंदगी कम होती है, न बदइंतजमी! नुमाइंदों को लड़ने से ही फुरसत नहीं! हाथियों की लड़ाई में बेचारी घास ही पिसती है।