DA Image
9 अप्रैल, 2020|6:52|IST

अगली स्टोरी

वरिष्ठ डाक अधीक्षक पर हमले के मामले में जेल में बंद थे विधायक

वरिष्ठ डाक अधीक्षक पर हमले के मुकदमे में कारागार में निरुद्ध सपा विधायक दुर्गा प्रसाद यादव की जमानत अर्जी पर सुनवाई पूरी करने के बाद जिला एवं सत्र न्यायाधीश छोटेलाल की अदालत ने बचाव पक्ष के अधिवक्ता के तर्कों से सहमत होते हुए आरोपित विधायक को बीस-बीस हजर रुपये के दो बंधपत्र तथा इतनी ही राशि का निजी मुचलका दाखिल करने पर रिहा करने का आदेश दिया।

अभियोजन पक्ष के अनुसार, वादी वरिष्ठ डाक अधीक्षक श्याम नरायन शर्मा ने शहर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि, बीस फरवरी 2009 की दोपहर सपा विधायक दुर्गा प्रसाद यादव, रामपलट यादव व एक अज्ञात व्यक्ति उनके चेम्बर में आए तथा गेना देवी के सस्पेंड होने का कारण पूछा, लेकिन जब वादी ने उन्हें समझने की कोशिश की तो वे नाराज हो गए तथा उनके साथ के अज्ञात व्यक्ति ने वादी के बायीं आंख पर बन्दूक के बट से प्रहार किया।

इस मामले में पुलिस ने आरोपित विधायक को तीन जून को गिरफ्तार किया तथा उन पर सात क्रिमिनल लॉ अमेण्डमेंट एक्ट की धारा भी बढ़ा दी। सीजेएम कोर्ट से जमानत खारिज होने के बाद मंगलवार को आरोपित विधायक की जमानत अर्जी पर दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के पश्चात जिला एवं सत्र अदालत ने सपा विधायक की जमानत अर्जी मंजूर करते हुए उन्हें बीस-बीस हजर रुपये के दो बंधपत्र तथा इतनी ही राशि का व्यक्तिगत मुचलका दाखिल करने पर रिहा करने का आदेश दिया। इस मुकदमे में अभियोजन पक्ष की तरफ से जिला शासकीय अधिवक्ता वीरेन्द्र प्रताप नरायन सिंह तथा सपा विधायक की तरफ से हरिवंश यादव एडवोकेट ने पैरवी की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:सपा विधायक दुर्गा यादव को मिली जमानत