DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंश्योरेंस फाइन प्रिंट

- सामान्यत: एक व्यक्ति का बीमा किसी निश्चित अमाउंट के लिए किया जाता है, जिसके आधार पर ही उसे पैसा मैच्योरिटी बाद दिया जाता है।

- कंपनियां एक ही तरह की इंश्योरेंस पॉलिसी के विभिन्न तरह की स्कीम देती है और उनके लिए अलग-अलग पैसा।

- अकसर एजेंट मैच्योरिटी के बाद मिलने वाले पैसे को ही बोनस कहकर ग्राहक से पॉलिसी करवा लेते हैं जिसका खामियाज बाद में ग्राहक को उठाना पड़ता है।

- इंश्योरेंस एक तरह की जरूरत के लिए विभिन्न तरह के इंश्योरेंस प्रोडक्ट उपलब्ध कराती है।

- किसी व्यक्ति के सामने सही अमाउंट को चुनने की चुनौती होती है। किसी व्यक्ति को अपनी जरूरतों के बारे में पूरी तरह स्पष्ट होकर और प्लान करके फैसला लेना चाहिए ताकि वह अमाउंट को सही तरीके से चुन सके।

- कॉमन मिनिमम स्टेंडर्ड इस बात के प्रति आश्वस्त करता है कि सभी ग्राहकों को एक स्पेसिफिक अमाउंट मिलेगा। इस तरह की पॉलिसी से फायदा खासकर उनको होता है, जो जनरल इंश्योरेंस पॉलिसी लेते हैं।

- सामान्यत: कंपनियां दो तरह के बोनस देती है, सिंपल और कंपाउंड।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंश्योरेंस फाइन प्रिंट