DA Image
9 जुलाई, 2020|4:39|IST

अगली स्टोरी

सायमंड्स के लौटने से चिंतित नहीं है ऑस्ट्रेलिया

सायमंड्स के लौटने से चिंतित नहीं है ऑस्ट्रेलिया

शराबखोरी में लिप्त होने के कारण टी-20 विश्व कप से घर भेज दिए गए हरफनमौला खिलाडी एंड्रयू साइमंड्स की गैरमौजूदगी से आस्ट्रेलिया को इस टूर्नामेंट में नुकसान उठाना पड सकता है लेकिन टीम के हौसले में किसी तरह की कमी नहीं आई है।


 वैसे भी यह पहली बार नहीं है जब ऑस्ट्रेलियाई टीम को अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट से पहले ऐसे झटके लगे हों। वर्ष 2003 में वनडे विश्व कप के दौरान दिग्गज लेग स्पिनर शेन वॉर्न को प्रतिबंधित दवा लेने का दोषी पाए जाने पर  उन्हें मैच से पहले घर वापसी का टिकट थमा दिया गया था। हालांकि इस घटना से विश्व चैंपियन टीम के जज्बे में किसी तरह की कमी नहीं दिखी और उसने टूर्नामेंट के फाइनल में भारत को 125 रनों से करारी शिकस्त दी।


उप कप्तान माइकल क्लार्क को भरोसा है कि इस बार भी उनकी टीम कुछ ऐसा ही प्रदर्शन करेगी।  द टेलीग्राफ ने क्लार्क के हवाले से कहा कि दौरे में आपके साथ क्या होता है, यह मायने नहीं रखता। बस टीम को हर वक्त जीत के लिए एकजुट रहना चाहिए। हमनें पहले भी एकजुटता के जज्बे का प्रदर्शन किया है और इस बार भी हमने बेजोड तैयारी की है।


वर्ष 2003 के टूर्नामेंट में अहम भूमिका निभाने वाले सायमंड्स ने पाकिस्तान के खिलाफ 125 गेंदों में 143 रन बनाए थे। इस बार के टूर्नामेंट में सायमंड्स की गैरमौजूदगी की वजह से डेविड हसी और जेम्स होप्स को मध्य क्रम में उतारा जा सकता है।

हालांकि ऑस्ट्रेलिया ने टी-20 क्रिकेट में कुछ खास सफलता हासिल नहीं की है और क्लार्क ने भी माना कि उनकी टीम इस टूर्नामेंट में भी रिकॉर्ड बनाना चाहती है।


उन्होंने कहा कि टी-20 में हमारी उम्मीदों के मुताबिक सफलता नहीं मिली है लेकिन हमारे प्रदर्शन में सुधार हो रहा है। हमारे पास बढ़िया क्रिकेट का प्रदर्शन कर इस मुकाबले को जीतने का मौका है। वैसे रविवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाला मुकाबला बेहद दिलचस्प होगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:सायमंड्स के लौटने से चिंतित नहीं है ऑस्ट्रेलिया