DA Image
22 फरवरी, 2020|4:15|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेना में सिखों की भर्ती की समीक्षा करेगा पेंटागन

सेना में सिखों की भर्ती की समीक्षा करेगा पेंटागन

अमेरिकी रक्षा विभाग ने सिख समुदाय की देश के सैन्य बलों में भर्ती करने की अपनी नीति पर पुनर्विचार करने का फैसला लिया है। गौरतलब है कि अब तक वहां सेना में सिखों की भर्ती करने पर रोक है। रक्षा मंत्री गेट्स ने इसकी जानकारी दी।

रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स की तरफ से पेंटागन ने सिखों की पैरोकार संगठन सिख कोलिएशन को बताया कि वह किसी अमेरिकी सिख नागरिक की सेना में भर्ती को रोकने वाले मौजूदा प्रावधान पर पुनर्विचार कर रही है । इस प्रावधान के अनुसार पगड़ी पहनने की वजह से सिख अमेरिकी सेना में भर्ती नहीं हो सकते।

पेंटागन के पुलिस निदेशालय में मानव संसाधन विभाग के निदेशक मेजर जनरल जान आऱ हॉकिन्स ने कहा कि हालांकि हमारे वर्तमान नियमों में सेना की वर्दी का प्रारूप स्पष्ट है लेकिन, हम हालात को मद्देनजर रखते हुए मौजूदा नीतियों की तार्किकता की समीक्षा की अहमियत समझते हैं ।

प्रेस के लिए शुक्रवार को जारी की गई 29 अप्रैल की लिखी चिट्ठी में कहा गया है कि वरिष्ठ नेतृत्व सिख समुदाय की चिंता से वाकिफ है । दो अमेरिकी सिखों ने मौजूदा प्रावधान को चुनौती दी थी, जिसके बाद इस मुद्दे को ‘सिख कोलिएशन’ संगठन ने आगे बढ़ाया था । संगठन ने सेना के ताजा कदम का स्वागत किया है ।

सिख कोलिएशन के कार्यकारी निदेशक अमरदीप सिंह ने एक बयान में कहा कि हमें यकीन है सेना द्वारा इस नीति की समीक्षा कर लेने के बाद साबित हो जाएगा कि सिख रिवाज दुनिया की किसी सेना में उत्तरदायित्वों के सफलतापूर्वक निर्वहन में किसी तरह की बाधा नहीं पहुंचाते हैं ।

इस साल 26 जनवरी को सिख कोलिएशन ने गेट्स को उन दो सिखों के बारे में लिखा था, जिनसे कहा गया था कि यदि वे सेना में बने रहना चाहते हैं तो उन्हें अपने धार्मिक रिवाजों को छोड़ना होगा । कैप्टन कंवलजीत सिंह कलसी और कैप्टन तेजदीप सिंह रतन को एक सैन्य कार्यक्रम में शामिल किया गया था । इस कार्यक्रम में सैन्य सेवा के बदले मेडिकल शिक्षा दिए जाने की व्यवस्था थी।

दाखिले के समय सैन्य अधिकारियों ने उन्हें पगड़ी और बिना कटे बालों की वजह से किसी किस्म की समस्या नहीं होने का भरोसा दिलाया था । चार साल बाद सेना अब कह रही है कि भर्ती करने वाले अधिकारियों ने झूठा आश्वासन दिया था और उन्हें अपने धार्मिक रिवाजों को छोड़ना पड़ेगा ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:सेना में सिखों की भर्ती की समीक्षा करेगा पेंटागन