अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टिकट बिक्री के पैसे खर्च करने वाले आधा दजर्न एसएम फंसे

रेलवे बोर्ड की विजिलेंस टीम ने बुधवार को वाराणसी-लखनऊ रेलखंड से गुजरने वाली ट्रेनों व स्टेशनों पर छापा मारा। जंच के दौरान टीम को आधा दजर्न स्टेशनों पर टिकट बिक्री में गड़बड़ी मिली। सूत्रों के मुताबिक विजिलेंस अफसरों को पूर्वी सर्किल से गुजरने वाली ट्रेनों व स्टेशनों से फर्जी रेल टिकटों की बिक्री होने की सूचना मिली थी। दो अलग-अलग ग्रुप में पहुंचे विजिलेंस अधिकारियों ने भदोही, जौनपुर, प्रतापगढ़ रूट के एक दजर्न स्टेशनों पर छापे मारे। 

सूत्रों के मुताबिक बीते दिनों मुंबई में फर्जी रेल टिकट पर यात्रा करने वाले एक दजर्न यात्री पकड़े गए थे। यात्रियों के पास से मिले टिकट सीवान व सुल्तानपुर के आसपास के स्टेशनों के थे। टीम को पता चला था कि पूर्वी सर्किल से जुड़े स्टेशनों पर फर्जी टिकटों की बिक्री की ज रही है। इसकी जंच के लिए दो टीमें अलग-अलग ग्रुप में पहुंचीं। एके द्विवेदी के नेतृत्व में विजिलेंस टीम ने वाराणसी-लखनऊ  रेलखंड से गुजरने वाली काशी विश्वनाथ, मरुधर एक्सप्रेस, दून एक्सप्रेस, सुल्तानपुर-वाराणसी पैसेंजर आदि ट्रेनों में औचक जांच की।

विजिलेंस अधिकारी एके द्विवेदी का कहना है कि पकड़ी गई गड़बड़ी की रिपोर्ट तैयार की ज रही है। सूत्रों के मुताबिक आधा दजर्न स्टेशन मास्टर टिकट बिक्री के राजस्व के हेराफेरी करने में पकड़े गए हैं। इनमें कुछ ऐसे हैं, जो टिकट बिक्री के पैसे को रेलवे खजने में जमा न कर व्यक्ितगत हित में खर्च कर दिए हैं। टीम के दो सदस्यों ने सायं पांच बजे कैंेट स्टेशन के आरक्षण एवं बुकिंग की जंच की, लेकिन कोई गड़बड़ी नहीं मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लखनऊ रेलखंड की ट्रेनों पर विजिलेंस का छापा