DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षा की गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए सरकार की कवायद

राज्य सरकार बेसिक स्कूलों के शिक्षकों स्थानांतरण नीति तैयार कर रही है। इस नीति के तहत एक ही स्कूल बरसों से जमे शिक्षकों को हटाया जाएगा। पिछले साल प्राथमिक स्कूलों के शिक्षकों की नई तैनाती नीति जारी हुई थी। इसमें तय किया गया था कि नवनियुक्त शिक्षक अति पिछड़े ब्लाकों में तैनात किए जाएँगे। इस तैनाती के लिए बाकायदा रोस्टर प्रणाली तैयार की गई है।

पिछले साल बीटीसी प्रशिक्षण के बाद सभी नवनियुक्त शिक्षकों को इसी रोस्टर के तहत दूर दराज के स्कूलों में तैनात किया गया था। लेकिन शहरी क्षेत्रों के आस पास के प्राथमिक विद्यालयों में कई बरसों से शिक्षक तैनात हैं। इन स्कूलों में मानक से कहीं अधिक शिक्षक हैं। वर्तमान में बेसिक शिक्षा निदेशालय के पास कोई स्थानांतरण नीति नहीं है। बेसिक शिक्षा परिषद के स्तर पर केवल एक शासनादेश के तहत तबादले किए जाते हैं।

सूत्रों ने बताया कि उच्च शिक्षा विभाग अब स्थानांतरण नीति तैयार कर रहा है। इस नीति के तहत एक ही स्कूल में जमे शिक्षकों को हटाया जएगा। शासन पर इस बात का भी दबाव है कि महिला शिक्षकों की तैनाती में थोड़ी उदारता बरती जाए।  विभाग की स्पष्ट स्थानांतरण नीति न होने से दूर दराज के स्कूलों में शिक्षक अनुपस्थित रहते हैं। इससे बच्चों की पढ़ाई का हज्र होता है। स्थानांतरण नीति को टीचर-फ्रेंडली बनाने की बात है ताकि स्कूलों में शिक्षकों की दिलचस्पी बढ़े।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक जगह सालों से जमे टीचर हटेंगे