अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कलेक्टर के दरबार में गूंजी जनता की फरियाद

कलेक्टर का दरबार शुक्रवार को पूरी तरह जनता के लिए खुला रहा। वे पूरे फायरी अंदाज में रहे। उनकी कोशिश हर आने वाले फरियादी को पूरी राहत देने की रही।

सरकार के जनता से सीधे संवाद के फरमान का असर देखने को मिला। कलेक्टर एके उपाध्याय ने पहले तो मातहतों को समय की पाबंदी के लिए बांधा फिर जनता की सुनने बैठे। सोनिया निवासी ब्रह्मा लाल गुप्ता अपनी खराब किडनी के इलाज की बाबत मदद की गुहार लेकर पहुंचे। कलेक्टर ने दस हजार रुपये की मदद तत्काल देने के लिए संबंधित लिपिक को निर्देश देते हुए उनकी मदद के लिए शासन को पत्र लिखने को भी कहा। श्री गुप्ता ने बताया कि वे मदद के लिए दो-तीन माह से आवेदन किए है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही। संयोग अच्छा रहा कि इस बार कलेक्टर अच्छे मूड में मिले और त्वरित निर्णय भी हो गया। नवापुरा निवासी अस्सी वर्षीय नूरूद्दीन वृद्धा पेंशन के लिए 15 माह से समाज कल्याण विभाग का चक्कर काट रहे है। चेक जारी होने के बाद पेंशन नहीं मिल रही। इनकी भी मदद हुई। कलेक्टर ने एक लिपिक को इनके साथ लगाया कि वे जाकर इनका काम दो घंटे के भीतर कराएं। नूरूद्दीन फफक कर रो रहा था।

उसके ऊपर बीबी जुबैदा और विधवा पुत्री सोहालिया की जिम्मेदारी है। आर्थिक तंगी के कारण उसके परिवार की स्थिति खराब हो गई है। इस पर कलेक्टर ने समाज कल्याण की कार्यप्रणाली पर नाराजगी जताई। लोहता क्षेत्र के कोटवां में स्थित सरकारी सस्ते गल्ले के दुकानदार द्वारा खाद्यान्न के वितरण में अनियमितता बरतने तथा उसे खुले बाजार में बिक्री कर दिए जाने की शिकायत पर डिप्टी कलेक्टर एवं क्षेत्रीय खाद्य आपूर्ति अधिकारी की संयुक्त टीम से जांच कर आख्या तलब की। बड़ागांव क्षेत्र के सेमरी गांव निवासी हाकिम सिंह ने जमीन बंधक करने वाले व्यक्ति द्वारा पूरा कर्ज चुकता करने के बाद भी जमीन मुक्त न करने पर नाराजगी जताई। बड़ागांव थानाध्यक्ष को चार दिन के भीतर जांच कर आख्या देने को कहा।

इसी तरह का मामला लोहता क्षेत्र के सुरही गांव का रहा जहां दबंग राजस्व व पुलिस की टीम के मेड़बंदी को भी मानने से इंकार कर रहे। वहां पुलिस में प्राथमिकी के बावजूद अभी तक कोई कार्रवाई न होने पर नाराजगी जताई। लोहता पुलिस को निर्देश किया कि तत्काल कार्रवाई करें। सारनाथ थाना क्षेत्र के रजनहिया में एक झोला छाप डाक्टर द्वारा बिना लाइसेंस अवैध तरीके से दवा बनाने और स्थानीय दबंगों के साथ गोलबंदी कर जमीन पर अवैध कब्जा जमाने की जानकारी पर कलेक्टर ने सीएमओ को निर्देश दिया कि प्राथमिकी दर्ज करा कर कार्रवाई की जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कलेक्टर के दरबार में गूंजी जनता की फरियाद