DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिपाहियों समेत तीन को दस-दस साल की कैद

महिला से बलात्कार मामले में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायधीश रवि कुमार की अदालत द्वारा दोषी करार दिए गए हरियाणा राज भवन की सुरक्षा में तैनात रहे दो सिपाहियों और उनके एक साथी को शुक्रवार को दस-दस साल की कैद की सज सुनाई गई है। हालांकि महिला किसी को पहचान नहीं पाई थी, लेकिन डॉक्टरी सबूतों के आधार पर आरोपियों को दोषी करार दिया गया था।

हरियाणा राज भवन की सुरक्षा में तैनात दो सिपाहियों बजिंदर और दिनेश कुमार एवं उनके साथी  सहाय पर सेक्टर-3 थाने में बलात्कार का मामला दर्ज किया गया था। वारदात राज भवन के पास बैरेक में घटी थी। पलसौरा की रहने वाली एक महिला ने पिछले साल फरवरी में पुलिस से शिकायत की कि बैरेक में उससे बलात्कार हुआ और बाद में उसे किसी को बताने पर बुरा अंजम भुगतने की धमकी देकर छोड़ दिया गया। इस मामले में पुलिस ने बजिंदर, दिनेश एवं षि को गिरफ्तार किया था।

बजिंदर और दिनेश को निलंबित किया ज चुका था। षि पर भी इस मामले में आरोप लगा था। षि मूल रूप से जींद का रहने वाला है, लेकिन रोहतक में इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान चलाता है। घटना वाले दिन षि उनसे मिलने के लिए चंडीगढ़ आया हुआ था और बलात्कार के वक्त वहीं मौजूद था।

पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था और महिला व आरोपियों के सैंपल भी लिए गए थे। इन सैंपल्स की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। सैंपल मैच हो गए  थे। यही रिपोर्ट आरोपियों के खिलाफ मुख्य आधार बना। अदालत ने तीनों को इस मामले में दोषी पाया है। डाक्टरी सबूतों के आधार पर आरोपियों को सजा मिली है। तीनों आरोपियों को बुड़ैल जेल भेज दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिपाहियों समेत तीन को दस-दस साल की कैद