अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्मचारियों की कार्यकुशलता में सुधार

दिल्ली में सरकारी विभागों की सेवाओं में सुधार हुआ है। इसका खुलासा बंगलौर के पब्लिक अफेयर्स फाउंडेशन द्वारा दिल्ली के विभिन्न विभागों की सेवाओं के दूसरे सामाजिक ऑडिट रिपोर्ट में किया गया है। स्वास्थ्य, शिक्षा, मोटर लाइसेंसिंग में संतुष्टि स्तर बढ़ा है, जबकि असंतुष्टि स्तर में गिरावट दर्ज किया गया है।


फाउंडेशन ने 2008 में विभिन्न विभागों द्वारा उपलब्ध कराई ज रही सेवाओं से संबंधित संतुष्टि स्तर का पता लगाने के लिए लगभग 18000 लोगों से जानकारी हासिल की थी। शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन, दफ्तर के कर्मचारी आदि के बारे में लोगों से जानकारी ली गई। जिसमें पता चला है कि संतुष्टि स्तर में काफी सुधार हआ है। मुख्यमंत्री शीला की अध्यक्षता में शुक्रवार को  हुई बैठक में  रिपोर्ट पर प्रेजेंटेशन दिखाया गया।


रिपोर्ट में दिखाया गया है कि अस्पतालों में ओपीडी में संतुष्टि स्तर में काफी सुधार हुआ है। पिछले अध्ययन के अनुसार संतुष्टि प्रतिशत 50 फीसदी थी, जबकि इस बार 64 फीसदी पर पहुंच गया है। स्कूलों में संतुष्टि स्तर 40 से 58 फीसदी, मोटर लाइसेंसिंग दफ्तर में गत सव्रेक्षण में 38 फीसदी से बढ़कर इस बार संतुष्टि स्तर 51 फीसदी पर पहुंच गया है। जबकि अस्पतालों में असंतुष्टि स्तर गिरकर  5 से 1 फीसदी, स्कूलों में 8 से 4 और मोटर वाहन लाइसेंसिंग में असंतुष्टि स्तर गिरकर 19 से 12 फीसदी पर पहुंच गई है। डीटीसी बसों के कंडक्टरों में व्यवहार कुशलता बढ़ी है।

एमसीडी व अन्य दफ्तरों में कर्मचारियों की कार्यकुशलता में सुधार हआ है।
लोगों से प्राप्त जनकारी की इस तरह से विश्लेषण किया गया है कि उसमें सेवाओं तक पहुंच और उपयोगिता, गुणवत्ता और विस्वसनीयता, विभागों की संवेदनशीलता, सेवाओं में पारदर्शिता और संतुष्टि को आधार माना गया है। अस्पतालों में डाक्टरों की उपस्थिति बढ़ी है। स्कूलों में स्थिति सुधरी है। अध्यपकों का व्यवहार सुधरा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कर्मचारियों की कार्यकुशलता में सुधार